हरियाणा रोडवेज के 1628 कर्मचारियों पर गिर सकती है गाज, जानिये क्या है वजह ?

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 08 August, 2018

हरियाणा रोडवेज की तरफ से पूरे प्रदेश में कल चक्का जाम किया गया था जिसमें करीब 4 हजार बसों के पहिये थम गए थे. इस हड़ताल से रोडवेज विभाग को करीब 4 करोड़ का नुकसान हुआ था वहीं रोडवेज की इस हड़ताल की वजह से यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था।

लेकिन अब रोडवेज विभाग की तरफ से ऐसे कर्मचारियों पर कार्यवाही की जा सकती है जो रोडवेज की इस हड़ताल में शामिल थे। विभाग के अफसरों की माने तो इसी साल भर्ती हुए 1628 नये चालक-परिचालक अगर इस हड़ताल में शामिल पाए गए तो प्रोबेशन की शर्तों के मुताबिक उन पर कार्रवाई हो सकती है।

हाल ही में भर्ती हुए नये चालक और परिचालकों के लिए यह नियम लागू किया गया है ऐसे में इन कर्मचारियों में से किसी भी कर्मचारी की इस हड़ताल के दौरान कोई शिकायत मिलती है या किसी प्रकार की जांच में नाम आता है तो नौकरी जा सकती है।

रोडवेज के चक्का जाम के बाद बोले परिवहन मंत्री, हम रोडवेज का नहीं कर रहे निजीकरण

हालांकि हड़ताल को लेकर परिवहन मंत्री ने बयान जारी करते हुए कहा कि रोडवेज विभाग का निजीकरण नहीं किया जा रहा है। कर्मचारियों की ज्यादातर मांगों को मान लिया गया है और कर्मचारी सीएम से मिलकर आभार भी जता चुके हैं। पंवार ने कहा कि अगर कर्मचारियों की किसी प्रकार की कोई मांग है तो उसको आपस में बैठकर सुलझाया जा सकता है।

रोडवेज कर्मचारियों की मांगे ?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *