हरियाणा रोडवेज की बसों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए ड्राइवर-कंडक्टरों को दी जाएगी जेंडर सेंसिटाइज्ड ट्रेनिंग

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Karnal, 28 Feb, 2019

अक्सर बसों में महिलाओं से छेड़छाड़ और दुरव्यवहार की खबरें सामने आती रहती हैं। प्रदेश की महिलाओं और बेटियों की इस समस्या को खुद प्रदेश सरकार ने महसूस किया है और इस समस्या के समाधान के लिए सबसे पहले ड्राइवर और कंडक्टर को महिलाओं की सुरक्षा के प्रति संवेदनशील बनाने का कार्य करने का निर्णय लिया गया है। दिल्ली के मानस आर्गेनाइजेशन के साथ सरकार ने एमओयू साइन करने की तैयारी कर ली है।

अगले दो महीने में तमाम तरह की औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जेंडर सेंसिटाइज्ड ट्रेनिंग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें हरियाणा रोडवेज डिपार्टमेंट के तमाम ड्राइवर और कंडक्टरों को ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग  में ड्राइवर और कंडक्टर को ट्रेनिंग में उनकी जिम्मेदारियों से अवगत कराया जाएगा। उन्हें बताया जाएगा कि उन्हें महिला यात्रियों के साथ कैसे पेश आना है। बस में सवार एक महिला की सुरक्षा को लेकर ड्राइवर-कंडक्टर की क्या ड्यूटी बनती है, अगर रात के समय कोई महिला सफर कर रही है, तो उसे किस तरह से सुरक्षित उसके घर तक पहुंचाना है।

सीएमजीजीए चीफ मिनीस्टर गुड गर्वेंनेंस एसोसिएट की ओर करनाल की ओर से रोडवेज बसों दैसे पब्लिक ट्रांसपोर्ट में महिलाओं के सुरक्षित सफर को लेकर जेंडर सेंसिटाइज्ड ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किए जाएंगे, जिसमें रोडवेज बसों के ड्राइवर- कंजक्टर को वूमेन सेंसिडाइज्ड को लेकर ट्रेंनिंग दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *