भिवानी में रोडवेज कर्मचारियों पर लाठीचार्ज, गेट के आगे कर रहे थे विरोध

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

भिवानी में रोडवेज के समर्थन में बैठे कर्मचारियों ने आज दोपहर को जोरदार प्रदर्शन किया। जोरदार प्रदर्शन करने के बाद कर्मचारी रोडवेज के बस स्टैंड के सामने धरना देकर बैठ गए। धरना दे रहे कर्मचारियों पर पुलिस ने वहां से खदेड़ दिया और लाठीचार्ज किया। लाठीचार्ज के बाद कर्मचारी वहां से भाग गए। प्रशासन की ओर से उपायुक्त अशंज सिंह व पुलिस कप्तान गंगाराम पूनिया का कहना था कि उन पर कर्मचारियों की तरफ से पथराव किया गया था। लोगों की जान माल की सुरक्षा व बसो की सुरक्षा को देखते हुए हल्का बल प्रयोग किया गया है।
भिवानी में रोड़वेज कर्मचारियों के समर्थन में आज सर्वकर्मचारी संघ के कर्मचारी नेता बड़ी संख्या में प्रदर्शन करते हुए नेहरु पार्क से बस स्टैड़ पहुंचे। कर्मचारियों ने बस स्टैड़ के सामने धरना लगा दिया तथा सरकार व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कर्मचारी बस स्टैंड के दोनो गेटों की तरफ धरना लगाकर बैठ गए थे। आरोप है कि बाद में  कर्मचारियों की तरफ बेैठे लोगों की तरफ से पथराव हो गया। पुलिस ने भी जवाबी रुख अपनाया तथा कर्मचारियों को खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज कर दिया। इस घटना के बाद कई कर्मचारी घायल हो गए।

बताया जा रहा है कि रोडवेज कर्मचारी गेट के आगे प्रदर्शन कर रहे थे उसके बाद पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज कर दिया। जिसके बाद कई कर्मचारियों को चोटें भी आई हैं। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि वो आराम से बैठे थे तभी पुलिस की ओर से इशारा दिया गया तथा बाद में किसी ने पत्थराव कर दिया। आरोप है कि पुलिस के ही आदमी थे जिन लोगों ने महौल खराब करने के लिए ऐसा किया था। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि उन लोगों की तरफ से कोई पत्थराव नही किया गया। उन्होंने कहा कि जानबूझ कर पुलिस व प्रशासन ने उनके आंदोलन को तोडने के लिए ऐसा किया हेै। कर्मचारी नेताओं का कहना था कि वे किसी भी सूरत में दबने वाले नही है। उन्हेांने कहा कि आज फिर से उनकी बैठक है तथा प्रदेश स्तरीय आंदेालन है तथा जैसे आदेश उन्हें मिलेंगे वे अब आगे की रणनीति वेैसी ही तैयार करेंगे। वही जनवादी महिला की अध्यक्ष बिमला घणघस का कहना थ कि उन लोगों ने रोडवेज कर्मचारियों को अपना समर्थन दिया हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस के कर्मचारी जान बूझ कर उनके साथ गल्त व्यवहार कर रहे थे।

वही दूसरी ओर उपायुक्त अशंज सिंह ने कहा कि किसी भी यात्री को परेशानी हो वे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही करेंगे। उपायुक्त ने कहा कि बसे नही जाने दी जा रही थी देानो गेटो पर धरना दे दिया। उपायुक्त ने बताया कि उन लोगों को बार बार कहा था कि रास्ते से हट जाएं बसें चलने दे। उपायुक्त ने कहा कि कोर्ट की तरफ से भी निर्देश है कि  200 मीटर तक किसी प्रकार का प्रदर्शन धरना नही किया जा सकता। उन्होंने बताया कि यहां भी धारा 144 लागू की गई है। उपायुक्त ने बताया कि किसी भी सूरत में यह बर्दाश्त नही होगा कि गेट को जाम किया जाएं बसे रोकी जाएं। उन्होंने बताया कि नेशनल हाईवे को जाम करना व पब्लिक प्रोपट्री को नुकसान पहुंचाने पर ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ मुकद्मा दर्ज किया जाएंगा।
एसपी गंगाराम पूनिया ने कहा कि बार बार कर्मचारियेां को कहा गया था कि वे यहां से हट जाएं बसो को निकलने दे। उन्होंने बताया कि कुछ शरारती तत्वों ने बसो पर पत्थराव करना शुरु कर दिया था। जिस कारण उन्हें न्यूनतम बल प्रयोग करना पड़ा। कर्मचारी नेता सरबत पूनिया ने युवा हरियाणा को फोन पर बताया कि सरकार अब अपनी मनमानी कर रही है और कर्मचारियों को दमनकारी नीति के जरिये तोड़ना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *