रोडवेज कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, आंदोलन का ऐलान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 06 Dec, 2018

रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी ने सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए आंदोलन की घोषणा की है। बुधवार को रोडवेज यूनियन मुख्यालय में हुई प्रदेश स्तरीय बैठक में सरकार द्वारा तानाशाही रवैए एवं जनविरोधी नीतियों की कडे शब्दो में आलोचना की गई। बैठक में तालमेल कमेटी के वरिष्ठ नेता इन्द्र सिंह बधाना, वीरेंद्र सिंह धनखड़, दलबीर किरमारा, अनूप सहरावत, बाबूलाल यादव, सरबत सिंह पूनिया, आजाद सिंह गिल, बलवान सिंह दोदूवा,रमेश कुमार सैनी, दिनेश हुड्डा उपस्थित थे।

बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुए हरियाणा रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी के वरिष्ठ नेताओं ने बताया कि आंदोलन के प्रथम चरण में सात से 12 दिसंबर तक जनता के बीच जाकर सरकार की जनविरोधी नीतियों के बारे मे जिसमें वर्ष 2016 में लगे हुए 365 चालको को सरकार द्वारा नौकरी से हटाया गया है तथा ग्रामीण क्षैत्र में बसों का जो रात्रि ठहराव बंद किया गया है, उससे आम जनता को जिला मुख्यालय पर आने के लिए तथा छात्र छात्राओं को पढने के लिए शहरो में आना पडता है, उससे भारी परेशानी हो रही है।

गौरतलब है कि सरकार द्वारा 700 प्राइवेट बसें ठेके पर लेने के विरोध में रोडवेज कर्मचारी 18 दिन तक कर्मचारी संगठनों, जन संगठनों एवं राज्य की जनता के सहयोग से सफल हडताल कर चुके है, लेकिन सरकार ने जनहित में किए गए आंदोलन से सीख न लेते हुए आज भी अपनी हठधर्मिता पर कायम रहकर विभाग में लगभग ढाई साल से कार्यरत 365 चालक जो ठीक प्रकार से विभाग में सेवा दे रहे थे तथा इन चालको की विभाग में आज भी जरूरत है, इसके बावजूद भी सरकार ने इनकी रोजी रोटी पर प्रहार किया है, इसलिए रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी जनता के सहयोग से 7 दिसम्बर से 12 दिसम्बर तक ग्रामिण क्षैत्र में धरने/प्रर्दशन/सभाएं करके सरकार की जनविरोधी एवं दमनकारी नीतियों की पोल खोलेगी।

उन्होंने बताया कि 13 व 14 दिसंबर को सभी डिपूओ पर 24 घंटे की भूख हडताल की जाएगी और तीसरे चरण में 23 दिसंबर को मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र करनाल में राज्य स्तरीय कन्वेशन करके आगामी आंदोलन का बिगुल बजाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *