रोहतक बार एसोसिएशन मामला गर्माया, महासचिव ने पुलिस और ज्यूडिशरी पर खड़े किए सवाल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Deepak Khokhar, Yuva Haryana

Rohtak, 12 June, 2018

रोहतक बार एसोसिएशन में वकीलों के चैंबर्स के निर्माण को लेकर राजनीति गर्मा गई है। महासचिव पुनीत पूनिया ने 3 दिन पहले प्रधान लोकेंद्र फौगाट और  पूर्व प्रधान दीपक कुंडू समेत 6 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी।

शिकायत में पूनिया ने चैंबर्स के निर्माण में करोड़ों रुपए की गड़बड़ी और रिकार्ड को नष्ट करने के आरोप लगाए थे। इसके दो दिन बाद बामर के एक क्लर्क ने भी महासचिव पर मारपीट करने और बार का रिकॉर्ड छीनने के संबंध में FIR दर्ज कराई है।

पूनिया ने कहा है कि बार में घोटालों की निष्पक्ष एजेंसी से जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधान लोकेंद्र फौगाट का पुलिस व ज्यूडिशरी पर पूरा प्रभाव है, इसलिए इस केस की हरियाणा से बाहर जांच होनी चाहिए।

पूनिया ने कहा कि लोकेंद्र फौगाट बार के 5 बार प्रधान भी रह चुके हैं और उनकी बहन भी जज है, इसलिए वे ज्यूडिशरी को खरीद भी सकते हैं। शायद इसलिए भी मामले की जांच में ढिलाई बरती जा रही है।

वहीं बार एसोसिएशन के प्रधान लोकेंद्र फौगाट ने घोटाले के तमाम आरोपों को एक बार फिर से सिरे से नकार दिया है और इसे राजनीति से प्रेरित मामला बताया है। उन्होंने कहा कि वे किसी भी प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं।

अब मामले में डीएसपी रमेश कुमार की अगुवाई में SIT का गठन किया गया है। उन्होंने पुलिस पर किसी भी प्रकार के दबाव से इंकार किया है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश हैं कि धोखाधड़ी के किसी भी मामले में पहले जांच की जाए। इसलिए मामले की जांच के बाद ही FIR दर्ज की गई है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *