रोहतक कोर्ट में हो रहा है करप्शन, कॉपी एग्जामिनर रिश्वत लेते गिरफ्तार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा
Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 23 May, 2018
स्टेट विजीलैंस ब्यूरो की टीम ने रोहतक कोर्ट की नकल शाखा के कॉपी एग्जामिनर को 8 हजार रूपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। इस कॉपी एग्जामिनर ने पानीपत के एक व्यक्ति के पक्ष में फैसला कराने की एवज में रिश्वत की मांग की थी। विजीलैंस ब्यूरो ने आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है। 
पानीपत के अशोक मखीजा और उसकी पत्नी के दो अलग-अलग केस एडिशनल सेशन कोर्ट कम वक्फ ट्रिब्यूनल में चल रहे हैं। जिला न्यायालय की नकल शाखा में नियुक्त कॉपी एग्जामिनर महावीर मित्तल ने दोनों केस में फैसला पक्ष में कराने की एवज में 18 हजार रूपए रिश्वत की मांग की। मखीजा ने 10 हजार रूपए की राशि 4 अप्रैल को दे दी और बाकी 8 हजार के लिए बुधवार का समय तय हुआ। 
 
इस बीच मखीजा ने स्टेट विजीलैंस ब्यूरो को शिकायत कर दी। ब्यूरो के इंस्पेक्टर चंद्रवीर सिंह की अगुवाई में रेडिंग पार्टी नियुक्त की गई। नायब तहसीलदार पवन कुमार को बतौर ड्यूटी मजिस्टेªट लगाया गया। विजीलैंस की योजना के अनुसार शिकायतकर्ता अशोक मखीजा ने कॉपी एग्जामिनर मित्तल को 8 हजार रूपए की रिश्वत की राशि दे दी। तभी विजीलैंस की टीम ने रेड मारकर मित्तल को रिश्वत की राशि के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *