पीजीआई से बच्चा चोरी करने करने वाली महिला ने किया बड़ा खुलासा

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Rohtak, 24 Feb,2019

पीजीआई से बच्चा चोरी मामले में में पकड़ी गई महिला महक ने आखिरकार अपना जुर्म कबूल कर लिया है। महिला अभी तक अपना बेटा गुम होने की बात कहकर पुलिस को गुमराह कर रही थी।

आरोपी महिला महक ने बताया कि उसने किसी बच्चे को जन्म ही नहीं दिया था। उसने इसी झूठ को छिपाने के लिए यह सब किया था। दरअसल महक के पहले पति से उसे 3 बच्चे हैं। बाद में किन्हीं कारणों से उसने अपने पति व बच्चों को छोड़कर अपने प्रेमी राठधाना निवासी दिनेश से शादी कर ली।

दूसरी शादी के बाद से उसे कोई बच्चा नहीं हुआ, जिसे लेकर आस-पड़ोस की महिलाएं उसे ताने देने लगीं। इस पर उसने साजिश के तहत पहले अपने गर्भवती होने की बात पड़ोस में लोगों में फैलाई। बाद में पीजीआई में इलाज चलने की बातें करने लगी।

महक के अनुसार 31 दिसंबर को वह रोहतक पहुंची। वहां से अपनी कुछ जानकार महिलाओं को फोन कर बताया कि उसने एक बच्चे को जन्म दिया है। घर लौटने के बाद उसने आसपास के लोगों से कहा कि उसने प्रीमेच्योर बेबी को जन्म दिया था, इसलिए बच्चा पीजीआई में एडमिट है। इसके बाद उसने पीजीआई से बच्चा चोरी करने का प्लान बनाया।

अब पुलिस जांच में सामने आया कि महक पीजीआई में पहले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के तौर पर काम कर चुकी है। 2016 में उसने नौकरी छोड़ दी थी।  अब इसी जान पहचान का फायदा उठाकर वह 21 फरवरी को पीजीआई के जच्चा-बच्चा वार्ड में अंदर चली गई।

वहां से उसने गोहाना की महिला मनीषा की नवजात बच्ची चोरी कर ली और उसे लेकर सोनीपत पहुंच गई। जब बच्ची चोरी के मामले में उसे फंसने का आभास हुआ तो पुलिस चौकी में जाकर शिकायत की कि बाइक सवार युवक उसकी गोद से बच्चा ले गए और ये बच्ची दे गए।

अभी तक महिला बार-बार बयान बदल रही थी। अभी महिला पांच दिन के पुलिस रिमांड पर है। पुलिस इस मामले में उसके पति दिनेश से भी पूछताछ करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *