सांपला बना प्रदेश का पहला सक्षम प्लस ब्लाक, 80 प्रतिशत से अधिक विद्यार्थियों ने हासिल की अंग्रेजी में दक्षता

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Chandigarh, 04 Mar,2019

हरियाणा शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के सरकारी स्कुलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का अंग्रेजी भाषा में रूझान बढ़ाने के लिए शुरु की गई सक्षम योजना के तहत रोहतक जिले का सांपला खंड प्रदेश का पहला सक्षम प्लस खंड घोषित किया गया है। यहां के सरकारी स्कूलों में 80 प्रतिशत से अधिक विद्यार्थियों ने अंग्रेजी दक्षता के निर्धारित ग्रेड प्राप्त किए हैं।

वहीं चरखी दादरी, झज्जर तथा महेन्द्रगढ़ जिलों के खंड नामत: बौंद कला, बेरी व मातनहेल तथा अटेली ने सक्षम-प्लस का स्थान प्राप्त करने के लिए प्रयासरत हैं।

जानकारी के अनुसार सांपला खंड के 80 प्रतिशत से अधिक विद्यार्थियों ने अंग्रेजी में दक्षता हासिल की है। पिछले सप्ताह विद्यार्थियों के हिंदी व गणित की दक्षता ग्रेड लेवल को आंका गया और 94 खंडों को सक्षम घोषित किया गया।

सक्षम प्लस का आंकलन फरवरी, 2019 में किया गया है, जिसके तहत चरखी दादरी जिले के बौंदकलां को ग्रेड-3 के साथ 66 प्रतिशत, ग्रेड-5 से 69 प्रतिशत व ग्रेड-7 के साथ 76 प्रतिशत आंका गया है। इसी प्रकार, झज्जर जिले के बेरी को ग्रेड-3 में 78 प्रतिशत, ग्रेड-5 में 73 प्रतिशत व ग्रेड-7 में 60 प्रतिशत, जबकि मातनहेल को क्रमश: 73 प्रतिशत, 73 प्रतिशत व 67 प्रतिशत आंका गया है।

बता दें साल 2017 में जब सक्षम योजना शुरु की गई थी तो उस समय झज्जर व महेन्द्रगढ़ जिले के दो खंडों को सक्षम घोषित किया गया था और उसके बाद चरखी दादरी, रोहतक जिलों के खंडों को भी सक्षम बनाया गया। इस प्रकार, सक्षम प्लस पहल से विद्यार्थियों में अंग्रेजी भाषा की दक्षता बढ़ी है।

सक्षम योजना विद्यार्थियों में अंग्रेजी भाषा को लोकप्रिय बनाने के लिए एक पहल है। जिसके तहत जिलों में विशेष रणनीति तैयार की जाती है। पीजीटी अध्यापकों को क्लस्टर लीडर बनाया जाता है। यूट्यूब और इनगुरु एप पर विद्यार्थियों को अंग्रेजी भाषा सीखने के टिप्स दिए जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *