हरियाणा में कैंसर से ज्यादा एड्स के मरीज, देखिये पूरे हरियाणा का आंकड़ा

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 3 August 2019

हरियाणा में दिन पर दिन कैंसर के रोगियों की संख्या में बढ़ती ही जा रही है। पिछले तीन सालों में यहां कैंसर रोगियों की संख्या में 453 की बढ़ोत्तरी हुई है। सबसे खराब हालात रोहतक के बताये जा रहे हैं, यहां इस समय करीब 4008 लोग कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से झूझ रहे है। आकड़ो के मुताबिक साल 2016 में प्रदेश में 6024 लोग कैंसर की चपेट में आए थे। जबकि साल 2018 में यह आंकड़ा बढ़कर 6477 तक पहुंच चुका है।

वही रोहतक जिले में तीन साल पहले 3845 लोग कैंसर से पीड़ित थे। लेकिन 2018 में यह आंकड़ा बढ़कर 4008 के पार पहुंच गया है। ऐसे ही कुछ हालात अम्बाला के है यहां करीब 231 लोग कैंसर से पीड़ित है। जींद में कैंसर रोगियों की संख्या 13 से 118 हो चुकी है। लेकिन हरियाणा में करनाल ही एकमात्र ऐसा जिला है जहां कैंसर रोगियों की संख्याओं का आकंड़ा घटा है। तीन साल पहले यहां 186 कैंसर रोगी थे। अब यहां आंकड़ा घटकर केवल 38 पर आ गया है।

एचआईवी रोगियों का आंकड़ा भी 27624 तक पहुंच चुका है। जींद में सबसे अधिक 3624 रोगी मिले हैं। यह आंकड़ा वह है जो सरकारी रिकार्ड में दर्ज है। कैंसर और एचआईवी के यह आंकड़े सरकार की ओर से विधानसभा के पटल पर रखे गए हैं। बता दें कि वर्ष 2016 में जहां कैंसर की वजह से मृत्यु दर 3.48 थी, वहीं 2017 में 5.01 हो गई, जबकि एड्स की मृत्यु दर वर्ष 2016 में 0.08 और वर्ष 2017 में 0.16 रही। उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से पश्चिम हरियाणा के जिलों में यह बीमारी तेजी से फैल रही है। अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो यह हरियाणा के भविष्य के लिये एक बड़ा खतरा बन सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *