बलिदान दिवस पर इक्कठा हुए जाटों को यशपाल मलिक ने किया संबोधित, प्रदेश में तैनात है अर्धसैनिक बलों कि कंपनियां

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा विशेष

हरियाणा में एक बार फिर जाट सड़कों पर हैं। राज्यर के अलग-अलग स्था,नों पर दो साल पहले जाट आरक्षण आंदोलन के मारे गए जाट युवाओं की याद में बलिदान दिवस मनाया जा रहा है। रोहतक के जसिया, हिसार के रामायण गांव और पानीपत के उग्राखेड़ी सहित विभिन्नं स्था नों पर सभाओं का आयोजन किया जा रहा है। इस मौके पर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। पुलिस के संग अर्द्ध सैनिक बलों के जवान भी तैनात किए गए हैं।

बलिदान दिवस का मुख्यड आयोजन रोहतक के जसिया गांव में स्थित धरनास्थ ल पर हो रहा है। यहां भारी संख्याा में जाट समुदाय के लोग आए हैं। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्येक्ष यशपाल मलिक ने भी जाटों को संबोधित किया। तो वहीं पानीपत के उग्राखेड़ी में भी जाट धरना दे रहे हैं। यहां धरना दे रहे लोगों को भी यशपाल मलिक ने संबोधति किया।

जसिया में जाट नेताओं ने कहा कि आरक्षण के लिए संघर्ष में जाट युवाओं का बलिदान बेकार नहीं जाने देंगे और अपना हक लेकर रहेंगे। जाट आंदोलन में हिंसा को लेकर जाटों के खिलाफ दर्ज सभी मामले वापस करवा कर रहेंगे। सभा में महिलाएं भी काफी संख्यान में मौजूद हैं। सभा में आंदोलन के दौरान मारे गए युवाओं को श्रद्धांजलि दी गई।

जाटों के कार्यक्रम को देखते हुए रोहतक शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। पूरे क्षेत्र में पुलिस के साथ-साथ अर्द्ध सैनिक बलों के जवानों ने मोर्चा संभाल रखा है। रोहतक शहर में एंट्री बंद कर दिया गया है। पानीपत, हिसार शहर और रामायण गांव में सभा स्थनल के पास भी कड़ी सुरक्षा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *