पीपली के गब्बर सरपंच की नहीं हुई गिरफ्तारी, ग्रामीणों ने सुरक्षाकर्मियों को भी वापस भेजा

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana
Sonipat, 30 June, 2018

सोनीपत के पिपली गांव के सरपंच ने एक युवक की हत्या इसलिए कर दी क्योंकि उसने सरपंच के काम का ब्यौरा मांगने वाले आरटीआई कार्यकर्ता की सहायता की थी। जिसके बाद सरपंच रामनिवास ने चेतावनी देकर जिम से लौट रहे युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

अब रविवार को सरपंच ने आशीष की हत्या कर दी। इतने दिन बीतने के बाद भी पुलिस आरोपी सरपंच को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। वहीं सरपंच की गिरफ्तारी ना होने की वजह से लोग डर के साये में हैं। वहीं बताया जा रहा है कि जिन लोगों को सुरक्षाकर्मी दिये गए थे, उनमें से आधे लोगों ने सुरक्षा वापस लौटा दी है।

ग्रामीणों के मुताबिक गांव के सरपंच रामनिवास से जब लोगों ने विकास कार्यों का हिसाब मांगना शुरु किया था तो उसने लोगों को धमकियां देनी शुरु कर दी थी जिसके बाद एक के बाद एक करके कई लोगों पर हमले भी हुए। इससे हत्याकांड से पहले 12 जून को भी एक शख्स पर जानलेवा हमला किया गया था।

ग्रामीणों ने बताया कि सरपंच ने 15 दिनों में दो बड़ी वारदातों को अंजाम दिया है और जल्द ही गांव में कई अन्य लोगों की हत्या करने की धमकी भी देकर गया है।

बता दें कि इस सरपंच का आपराधिक रिकॉर्ड बहुत बड़ा है। इससे पहले भी गांव में एक महिला की हत्या और दो लोगों की हत्या के आरोप में जेल जा चुका है। वही सरपंच पर हत्या और हत्या के प्रयास के करीब 10 मुक़दम्मे दर्ज है ।

सरपंच रामनिवास एक पेशेवर अपराधी है। इस ने साल 2008 में पहला जुर्म किया था और उसके बाद हत्या, लूट पाट, मारपीट के 10 मामले दर्ज हुए। वहीं पुलिस का कहना है कि उन्होंने रामनिवास को पकड़ने के लिए 3 टीमें गठित कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *