बिजली विभाग में हुआ करोड़ों का घोटाला, अभय चौटाला ने लगाए बीजेपी-कांग्रेस पर आरोप

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 28 Sept, 2018

नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने आज चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बिजली विभाग में करोड़ों रुपये के घोटाले का आरोप लगाया है। अभय चौटाला ने बिजली विभाग में हमारा गांव जगमग गांव योजना के तहत घोटाला करने का आरोप लगाया है।

अभय चौटाला ने बताया कि इस योजना के तहत सात जिलों में घटिया स्तर की केबल लगाई गई है। और बिजली विभाग मुख्यमंत्री के पास है। उन्होने बताया कि 42 करोड़ की रिकवरी ठेकेदारों पर डाल दी गई है, जबकि जो सामान जिस फर्म से खरीदा गया था वो सरकार की तरफ से बताए गए थे।

नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने बताया कि दक्षिण हरियाणा के दो जिलों गुरुग्राम और फरीदाबाद में जांच नहीं करवाई गई है जहां पर सबसे अधिक सामान लगा हुआ है। चौटाला ने मांग करते हुए कहा कि इन दोनों जिलों की भी जांच करवाई जानी चाहिए और अधिकारियों और फर्मों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

 

अभय चौटाला ने कांग्रेस पर भी घोटाले के आरोप लगाते हुए कहा कि पिलर बॉक्स योजना में 253 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ था। इसमें सरकार ने दोषियों पर कार्यवाही ना करके सात अधिकारियों को सस्पेंड किया है। जबकि अब सभी अधिकारी दोबारा पद पर लगा दिये हैं।

चौटाला ने सोनीपत में  म्युनिसिपल काम्प्लेक्स में भी घोटाले का आरोप लगाया। उन्होने बताया कि 6 करोड़ 62 लाख में बनने वाली बिल्डिंग 12 करोड़ से ज्यादा में बनी है। इसकी भी जांच होनी चाहिए।

अभय चौटाला ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने का प्रयास किया। उन्होने आंकड़े देते हुए बताया कि अक्टूबर माह में हरियाणा में 95 गैंगरेप के केस हुए हैं। जबकि 2461 मामले बच्चों के विरुद्ध अपराध के हुए हैं। उन्होने कहा कि हरियाणा अब अपराधियों की शरणस्थली बन चुकी है।

चौटाला ने रजिस्ट्री फीस को लेकर सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होने कहा कि आम लोगो की जेब पर डाका डालने के लिए सरकार ने रजिस्ट्री फीस 1500 से बढ़कर 15000 कर दी है। इससे पूरे प्रदेश की जनता को काफी नुकसान होगा।

किसानों के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि सरकार खराब फसलों की गिरदावरी करवाकर 25 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा तुरंत दें ताकि किसानों को राहत मिल सके। वहीं किसानों के लोन का एक साल का ब्याज सरकार माफ करे और एक साल तक लोन की रिकवरी पर भी सरकार रोक लगाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *