स्कूल प्रशासन द्वारा भाई-बहन पर बनाया गया धर्म परिवर्तन का दबाव, न मानने पर अश्लील बातें सुनाकर निकाला बाहर

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Suren Sawant, Yuva Haryana

Sirsa, 29 Jan, 2019

डबवाली के एक मिशनरी स्कूल ने अपने यहां पढ़ रहे भाई-बहन पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाया और बात नहीं मानने पर दोनों को स्कूल से निकाल दिया। छात्र की शिकायत पर पुलिस ने सेंट जोसफ हाई स्कूल के प्रधानाचार्य जैरीपोलो, फादर डोमिनिक, सर ऐन्टोनियो व विनीता के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

बठिंडा रोड स्थित इस निजी स्कूल में पढ़ने वाली छात्र ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि वह हिन्दू धर्म से संबंध रखती है। वहीं बच्चों के पिता की तरफ से पुलिस को दी शिकायत में जबरन धर्म परिवर्तन करने व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने और स्कूल प्रबंधन की और से लड़की को अश्लील रूप से भला बुरा कहने की शिकायत दी गई है।

छात्र-छात्रा के पिता का कहना है कि स्कूल के ईसाई धर्म से संबंध होने के कारण आरोपित उन पर दबाव बनाते थे कि वे ईसाई बन जाएं। आस्था नहीं दिखाई तो धर्म के नाम पर बार-बार बेइज्जत किया जाने लगा। स्कूल के उच्च अधिकारियों के पास मामला पहुंचा, तो जान से मारने की धमकी दी।

छात्र का आरोप है कि अश्लील बातें बोलकर नीचा दिखाने का प्रयास किया गया। इतना ही नहीं उसे धमकी भी दी गई कि अगर ईसाई नहीं बनी तो ऐसा कार्य करेंगे कि वह किसी को सूरत दिखाने के लायक नहीं रहेगी। 25 जनवरी को उसे और उसके भाई को स्कूल से निकाल दिया गया।

पीड़िता के पिता कुलवीर सिंह निवासी धालीवाल नगर ने बताया कि उसकी बेटी व एक बेटा सेंट जोसफ स्कूल में पढ़ते है। जहां स्कूल प्रिंसिपल जैरीपोलो द्वारा उनके हिंदू धर्म को लेकर रोजाना बच्चों पर दबाब बनाते थे। जिसके चलते बच्चे मानसिक तौर पर परेशान रहने लगे। जिसकी शिकायत स्कूल के उच्चाधिकारियों को भेजी, तो वह मामले को दबाने के लिए जान से मारने की धमकियां देने लगे।

आरोप है कि उनके द्वारा हिंदू से ईसाई धर्म न अपनाने पर बच्चों को स्कूल से निकाले जाने की धमकी देते हुए उनके साथ ऐसा कार्य करेंगे की वह किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहेगी।

वहीं कुलवीर सिंह ने बताया की उसके दादा पिता शुरू सेइसाई धर्म में आर्थिक मज़बूरी की वजह से थे, लेकिन उसने धर्म को छोड़ दिया और वह हिन्दू है। लेकिन अब उसको प्रताड़ित किया जा रहा है।

शहर महिला थाना प्रभारी सुशील बाला ने बताया कि शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था, लेकिन बाद में बच्ची ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान बदल दिए थे और कोई भी कार्रवाही नहीं करने की बात कहकर पिता ने मामला सुलझा लिया था। लेकिन 1 दिन बाद दुबारा अभिभावक की तरफ से मामले में दवाब बताकर नए सिरे सो मामला दर्ज करने की बात कही गई है। अब लिखित शिकायत के आधार पर कार्रवाही करेंगे।

उधर इस संबंध में काफी कोशिश के बावजूद भी स्कूल प्रशासन की ओर से मीडिया के समक्ष कोई सवांद करने पर चुपी बरकरार है। जहां स्कूल प्रशासन ने मीडिया के स्कूल में आने पर बैन लगा दिया है, ताकि कोई मीडिया कर्मी बातचीत नहीं कर सके। बहरहाल कोई भी पक्ष उपलब्ध नहीं हो सका।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *