सीएम के प्रोग्राम में स्कूलों के स्टाफ को परिवार सहित मैराथन दौड़ में शामिल होने के आदेश, स्वराज इंडिया ने की निंदा

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Sirsa, 30 Oct, 2018

शिक्षा पदाधिकारी सिरसा ने पत्र जारी कर 31 अक्टूबर को आयोजित होने वाले सिरसा मैराथन में जिले के सभी राजकीय व राजकीय विद्यालयों के 90% स्टाफ को परिवार सदस्यों के साथ शामिल होने का आदेश दिया है।

साथ ही सभी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक व उच्च विद्यालयों के तीन शिक्षकों को अपनी गाड़ी से 5-5 विद्यालयों को साथ लाने का आदेश दिया है। राज्य के सभी शारीरिक शिक्षकों को संख्या आवंटित की गई है, जिनके साथ उनका आना अनिवार्य किया गया है। ज्ञात हो कि इस आयोजन के मुख्य अतिथि हरियाणा प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगें।

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग किया जा रहा है। सरकार बलपूर्वक इस आयोजन में लोगों की भागीदारी सुनिश्चित कर इसे मुख्यमंत्री की लोकप्रियता के रूप में पेश करना चाहती है। राजकीय विद्यालयों के साथ-साथ अराजकीय विद्यालयों व स्टाफ सदस्यों को उनके परिवार वालों को कार्यक्रम में लाने के बाध्य करना एकता दिवस की मूल भावना के खिलाफ है।

स्वराज इंडिया हरियाणा के अध्यक्ष राजीव गोदारा ने कहा कि शिक्षकों को शिक्षकेत्तर सरकारी कार्यक्रम के आयोजन में लगाने से उनके मूल काम शिक्षण में योगदान देने की उनकी क्षमता पर प्रतिकूल असर पड़ता है।

शिक्षा की गुणवत्ता के लिए सरकार को ऐसे आदेशों से न सिर्फ परहेज करने की आवश्यकता है, बल्कि शिक्षा अधिकारी द्वारा अपने क्षेत्राधिकार का अतिक्रमण भी है। शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों की जिम्मेवारी बनती है कि ऐसे अलोकतांत्रिक आदेश जारी करने वाले अफसर के खिलाफ कार्रवाई करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *