HSSC क्लर्क पेपर की आंसर-की जारी करना गलत, अपनी हार देखकर भाजपा अपना रही तरह-तरह के हत्कंडे – रणधीर सिंह

चर्चा में राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

12 oct, 2019

प्रदेश में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जननायक जनता पार्टी ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) और हरियाणा लोकसेवा आयोग (HPSC) के सभी परीक्षा परिणामों पर तुरंत प्रभाव से रोक लगाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है। जेजेपी के प्रदेश कार्यालय सचिव रणधीर सिंह ने चुनाव आयोग को पत्र लिखते हुए कहा कि आयोग चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में लगी आचार संहित के चलते तुरंत उनकी मांग पर गौर करें ताकि निष्पक्ष चुनाव हो सके।

साथ ही रणधीर सिंह ने बताया कि जेजेपी ने इससे पहले 24 सितंबर को आयोग के साथ सभी राजनीतिक दलों की हुई बैठक में भी मांग की थी कि आचार संहिता के तहत हरियाणा लोकसेवा आयोग व हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग में किसी भी प्रकार के परीक्षा परिणाम घोषित करने पर तुरंत प्रभाव से पाबंदी लगाई जाए, जिस पर आयोग ने HSSC और HPSC से रिपोर्ट मांगने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि आयोग के संज्ञान में ये मामला डालने के बावजूद भी HSSC क्लर्क पेपर की आंसर-की अपनी ऑफिशल वेबसाइट hssc.gov.in पर जारी कर दी है। उन्होंने पूछा कि आखिर आंसर-की जारी करने की विभाग को इतनी क्या जल्दबाजी थी।

वहीं रणधीर सिंह ने कहा कि भाजपा को चुनाव से पहले हार का अहसास हो गया है इसलिए चुनाव के नजदीक मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए तरह-तरह के हत्कंडे अपना रही है जो कि सरसरा आचार संहिता का उल्लंघन है। साथ ही उन्होंने कहा कि पहले तो प्रदेश से जाती-जाती भाजपा सरकार ने क्लर्क भर्ती निकालकर लाखों बेरोजगार युवाओं को 250-250 किलोमीटर दूर तक दर-दर की ठोकरें खिलाई और अब आचार संहित के उल्लंघन पर तूली है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग इस मामले को तुरंत संज्ञान में लेते हुए क्लर्क परीक्षा समेत HSSC और HPSC के सभी परीक्षा परिणामों पर तुरंत प्रभाव से पाबंदी लगाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *