बचपन में ही माता-पिता ने छोड़ दिया था साथ, आज सीमा खुद के दम पर रोडवेज की बस फर्राटे से दौड़ा रही है

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Hisar, 30 Nov, 2018

प्रदेश में बेटियां लगातार कुछ न कुछ ऐसा कार्य कर रही हैं, जिससे प्रदेश का नाम रोशन हो रहा है। एक समय था जब बेटियों को उनके हक नहीं मिलते थे, लेकिन आज बेटियों ने हर क्षेत्र में एक बड़ा मुकाम पाया है।

अक्सर स्कूटी या गाड़ी तो आपने लड़कियों को चलाते देखा होगा, लेकिन हिसार की बेटी सीमा ग्रेवाल हरियाणा रोडवेज की बस को इतनी फर्राटे से चलाती हैं कि सभी पुरुष चालक भी देखते रह जाते हैं।

सीमा ने अपनी जिन्दगी में काफी कठिनाईयों का सामना किया है। फिलहाल वह बीए फाइनल की छात्रा हैं। सीमा ने बताया कि वह कुछ महीनों की थी तो उनके पिता ने माता को छोड़ दिया था। इसके बाद मां ने भी सीमा का साथ छोड़ दिया और उसे अनाथ आश्रम में रख कही निकल गई।

छह साल बाद मां को सीमा की याद आई तो वह वापिस उसे अपने साथ लेकर गई, लेकिन मां ने फिर अपना एक नया परिवार बसा लिया और सीमा को उसका हक नहीं मिल पाया। मामा के पास रह कर सीमा ने पढ़ाई शुरू की, लेकिन यहां भी परेशानियों ने पीछा नहीं छोड़ा। जिसके बाद सीमा अपनी एक सहेली के पास रहने लगी और अब वह हैवी वाहन चलाने की पढ़ाई कर रही है।

सीमा नारनौंद क्षेत्र के एक गांव गुराना की रहने वाली है। वह सेना या पुलिस में अच्छे पद पर रहकर देश की सेवा करने का सपना रखती हैं। अब वह पढ़ाई के साथ-साथ वाहन चलाने में ट्रेंड हो गई है। रोडवेज के प्रशिक्षण सुलेश ने बताया कि सीमा कुछ ही समय में ट्रेंड हो गई है। वह बड़ी ही चतुराई के साथ बस चलाती है और अब जल्द उसे हैवी लाइसेंस मिल जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *