अम्बाला पहुंचा शहीद विक्रमजीत सिंह का शव, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

Breaking Uncategorized अनहोनी चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

मंगलवार को जम्मू कश्मीर के गुरेज सेक्टर में मुठभेड़ के दौरान विक्रमजीत शहीद हो गए थे।विक्रमजीत सिंह अम्बाला के गांव तेपला के रहने वाले थे। उन्होंने 12वीं तक पढ़ाई के बाद 2015 में रोहतक में भर्ती परीक्षा पास कर सेना जॉइन की थी । सबसे पहले उन्हें फिरोजपुर में पोस्टिंग मिली। 2016 में श्रीनगर में ड्यूटी हो गई। विक्रमजीत के दादा भी सेना में थे। उन्हीं से प्रेरणा लेकर देश सेवा के लिए सेना में पहुंचे थे।

विक्रमजीत की शादी 15 जनवरी 2018 को यमुनानगर के गांव पीबनी की रहने वाली हरप्रीत से हुई थी। विक्रमजीत शादी के बाद छुट्टियां खत्म कर 24 मार्च को ड्यूटी पर लौटे थे। सोमवार को ही विक्रमजीत की हरप्रीत से फोन पर एक घंटे तक बात हुई। लेकिन मंगलवार सुबह 8 बजे शहादत की खबर आ गई। शहीद के घर में मातम का माहौल है । विक्रमजीत के पार्थिव शरीर का परिजनों को बेसब्री से इंतजार है।

विक्रमजीत के पिता बलजिंद्र का कहना है कि उन्हें गर्व है कि उनके बेटे ने देश की रक्षा करते हुए शहादत पाई। उनका छोटा बेटा भी देश की सेवा करता रहेगा। आपको बता दें की बुधवार शाम 6 बजे कैंट एयरफोर्स स्टेशन लाया गया है। शहीद के पार्थिव शरीर को मिलिट्री अस्पताल में रखवाया गया है।

गुरुवार को शहीद विक्रमजीत का दाह संस्कार राजकीय सम्मान के साथ उनके गांव तेपला में किया जाएगा। मंगलवार सुबह गुरेज सेक्टर में पेट्रोलिंग करते समय पाकिस्तान की आेर से 8 आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास कर रहे थे।

इसी दौरान पेट्रोलिंग के समय विक्रमजीत सहित उनके चार अन्य साथियों की आतंकी के साथ मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए। वहीं चार सेना कर्मी शहीद हो गए। बुधवार को शाम मिलिट्री अस्पताल में शव रख दिया गया है। इसके बाद गुरुवार को राजकीय सम्मान के साथ शहीद विक्रमजीत का दाह संस्कार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *