चार पीढियों से देश की सेवा में है परिवार, अब शहीद सिद्धार्थ की पत्नी संभालेंगी रक्षा का जिम्मा

Breaking अनहोनी चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 28 Feb, 2019

बड़गाम में सेना के विमान क्रेश में मारे गए हरियाणा के शहीद स्क्वाड्रन लीडर 35 वर्षीय सिद्धार्थ वशिष्ठ की पत्नी अब देश की रक्षा का जिम्मा संभालेंगी।  उनकी पत्नी अनीता भी वायुसेना में स्क्वाड्रन लीडर हैं और पति के साथ ही श्रीनगर में तैनात थीं। इतना ही नहीं शहीद सिद्धार्थ के चार पीढियों के लोग भी देश की सेवा में रहे हैं।

शहीद सिद्धार्थ के पिता जगदीश वशिष्ठ ने बताया कि सिद्धार्थ पढ़ाई में तेज थे। बचपन से ही उन्हें सेना में जाने का शौक था। परिवार की चौथी पीढ़ी ने भी फौज में जाकर देश की सेवा करने का फैसला लिया है। इस फैसले से सारे खुश थे। 2010 में कमीशन पास कर वह लेफ्टिनेंट बने थे। इसके बाद अब वह एयरफोर्स में बतौर स्क्वाड्रन लीडर सेवाएं दे रहे थे। देश में बने मौजूदा हालात के बारे में उन्होंने इतना ही कहा कि जो भी हो रहा है वह बहुत पहले होना चाहिए था।

शहीद सिद्धार्थ की छह साल पहले शादी हुई थी, सिद्धार्थ की शादी उसकी साथी स्क्वाड्रन लीडर अनीता से हुुई थी। दोनों की पोस्टिंग भोपाल में थी। शादी में गिने चुने लोग ही शामिल हुए थे। पूरा परिवार चंडीगढ़ में रह रहा था। वहीं पुराना गांव अंबाला के नारायणगढ़ इलाके का हमीदपुर है।

सिद्धार्थ के दादा भगत राम सेना में सूबेदार के पद से रिटायर हुए थे। पिता बैंक से रिटायर कर्मी हैं। चाचा रेलवे में स्टेशन मास्टर है और फुफेरा भाई नौसेना में विक्रमादित्य जहाज पर पायलट है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *