करनाल की एक और बेटी जाएगी नासा, कल्पना चावला के ही स्कूल में की है पढ़ाई

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Karnal, 20 July, 2019

1 फरवरी 2003 का वो दिन आज भी सभी को याद है, इस दिन हरियाणा की बेटी कल्पना चावला ने इस दुनिया को अलविदा कहा था।

लेकिन उस बहादुर बेटी को आज भी पूरा देश याद रखता है। कोलंबिया स्पेस शटल के दुर्घटनाग्रस्त होने के साथ भले ही कल्पना की उड़ान ठर गई हो, लेकिन वो आज भी दुनिया में सभी के लिए एक मिसाल है।

अब ऐसे ही जज्बे के साथ हरियाणा की एक और बेटी नासा जाने की तैयारी में है। खास बात तो ये है कि नासा जाने वाली शीतल भी करनाल से संबंध रखती है और शीतल करनाल के टैगोर बाल निकेतन की छात्रा है, जहां से कल्पना चावला ने भी पढ़ाई की थी। शीतल ने नासा द्वारा ली गई ऑनलाइन परीक्षा में सबसे ज्यादा अंक हासिल किए हैं, जिसके बाद शीतल को नासा जाने का मौका मिला है।

शीतल नासा जाने के बाद कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेगी और वहां वैज्ञानिकों की देख- रेख में अंतरिक्ष से जुड़ी कई जानकारी हासिल करेगी।

बता दें कि करनाल से संबंध रखने वाली कल्पना चावला अंतरिक्ष में जाने वाली पहली महिला रही हैं। कल्पना ने भी अपनी पढ़ाई की शुरुआत करनाल के टैगोर बाल निकेतन से ही की थी। 1998 में कल्पना ने सौगात देते हुए हर साल सभी भावी छात्रों को नासा घुमाने की योजना बनाई। लेकिन 2015 में नासा ने ये योजना देशभर के भावी छात्रों के लिए कर दी। जिसके तहत ऑनलाइन परीक्षा के जरिए ही नासा जाने वाले छात्रों का चयन होता है। नासा के इस कार्यक्रम में 22 देशों के छात्र हिस्सा लेते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *