हौंसले की मिसालः मूक बधिर ने राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में गोल्ड पर साधा निशाना

खेल विविध हरियाणा

 

राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में शिक्षा भारती स्पोर्ट स्कूल के 16 वर्षीय मूक बधिर अरुण पांचाल ने गोल्ड मैडल झटका है। पुंडरी कस्बे में स्थित गुरुकूल परिसर में 50 व 70 मीटर की दूरी से निशाना साधकर होनहार खिलाड़ी ने अपनी काबिलियत का परिचय दिया।

तीरंदाजी संघ हरियाणा तत्वाधान में राज्य स्तरीय प्रतियोगिता 17 से 21 फरवरी तक खेली गई। खिलाड़ी के कोच अमित कुमार ने बताया कि अरुण सुनने और बोलने में पूर्णत अशक्त है। इस बीमारी के उपचार पर परिवार ने पानी की तरह पैसा बहाया। लेकिन प्रयास सफल नहीं हो पाए।

बावजूद इसके पेशे से संस्कृत शिक्षक पिता रमेश कुमार ने हिम्मत नहीं हारी। जिला जींद के बडोदा गांव में सेवाएं दे रहे पिता की सोच बुलंद रही।  उन्होंने बेटे में दृढ़ इच्छा शक्ति को कूट-कूट कर भरा है। परिणामस्वरूप अरुण स्वयं को कहीं भी अन्य की तुलना में अशक्त नहीं समझता।

इस सोच को पंख लगाने के लिए परिवार ने शिक्षा भारती स्पोर्ट स्कूल में बेटे को प्रवेश दिलाया। संस्थान चेयरमैन कुलदीप सिंह, प्राचार्य जितेंद्र सिंह और खेल निदेशक वीरेंद्र सिंह के मार्ग दर्शन में कोच अमित कुमार ने बेहतरीन प्रशिक्षण दिया। दक्षिण कोरिया से 3 लाख कीमत का धनुष और तीर विशेष रूप से खिलाड़ी को उपलब्ध करवाए गए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *