सिवानी कोर्ट में फायरिंग करने वाले 7 आरोपी दबोचे पुलिस ने, हैड कॉन्स्टेबल की ली थी जान

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा

7 मई को सिवानी कोर्ट परिसर में पेशी पर आए आरोपियों पर फायरिंग कर एक पुलिस हैडकांस्टेबल को मौत के घाट उतारने वाले आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने मुख्य आरोपी के साथ-साथ मामले के मुख्य षडय़ंत्रकारी गैंगस्टर और उसके साथी को भी गिरफ्तार कर लिया। अब तक कुल 7 आरोपियों को हथियारों सहित पूरे मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है।
बता दें कि सात मई को सिवानी कोर्ट पसिर में पेशी के लिए लाए गए 2 आरोपी सुनील उर्फ कालिया और जयकुमार उर्फ भादर पर तीन-चार बदमाशों ने फायरिंग की थी। फायरिंग में एक हैड कांस्टेबल की मौत हुई थी और आरोपियों के अलावा पुलिसकर्मियों को भी छर्रे लगे थे।

मामले में दो आरोपियों मंजीत व सुमित को पुलिस ने मौके से दबोच लिया था, जबकि मुख्य आरोपी अजय मौके से भागने में कामयाब हुआ था। पुलिस ने आज उसे भी दबोच लिया।
भिवानी के एसपी ने बताया कि मामला शराब ठेकों पर वर्चस्व व हत्या के पुराने मामलों में गैंगवार का है। आरोपी मंजीत जेल में बंद सोनू से लगातार मुलाकात करता था व वहीं से षडय़ंत्र रचा गया। इसी मामले में राकेश नाम के एक शख्स को भी षडय़ंत्र में शामिल होने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ऐसे में कुल मिलाकर 7 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया ने बताया कि फायरिंग करने वाले तीनों आारोपियों अजय ईशरवाल, मंजीत व सुमित का कोई पुराना आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है तथा इन तीनों को जेल में बंद सोनू ने ही तैयार किया था। दरअसल 2015 में राजस्थान के तिहरे हत्याकांड में सोनू गैंग का हाथ था। इसी मामले में सोनू जेल में बंद था तथा अब मामला वर्चस्व का चल रहा था। बहल व सिवानी इलाके में शराब ठेकों पर वर्चस्व व हत्या के मामलों की पुरानी रंजिश के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया था।
एसपी ने बताया कि मामले में षडय़ंत्र रचने से जुड़े और भी कई लोगों के नाम सामने आए हैं। उन्हे भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मामले में आरोपियों से हथियार व कारतूस भी बरामद किए गए है व अब रिमांड पर लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है।

कोर्ट परिसरों में सुरक्षा के सवाल पर एसपी ने बताया कि उन्होंने मामले के बाद लोहारू, तोशाम, सिवानी व भिवानी कोर्ट परिसरों की सुरक्षा की पड़ताल की थी  उसके बाद सिवानी में 10, तोशाम में 6, भिवानी में 10 व लोहारू में 6 कर्मिकों की ड्यूटी लगाई गई है। साथ ही अब कोर्ट परिसर में आने-जाने वाले हर संदिग्ध की गहनता से तलाशी लिए जाने के आदेश भी दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *