सोहना अस्पताल ने खोली सरकार की सुविधाओं की पोल- मरीजों की लंबी लाइनें, लेकिन डॉक्टरों की कुर्सियां खाली

चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Suraj Duhan, Yuva Haryana

Gurgaon,21-03-2018

मरीज के पास इलाज करवाने के लिए अस्पताल जाने के अलावा कोई भी रास्ता नहीं होता। लेकिन अगर अस्पताल में डॉक्टर्स ही मौजूद नहीं होंगे, तो मरीज कहां जाएंगे। डॉक्टर्स की गैर-मौजूदगी में मरीज की जान भी जा सकती है। लेकिन सोहना के नागरिक हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को मरीजों की परवाह कहां।

जी हां, सोहना के एक नागरिक अस्पताल में मरीज अपना इलाज करवाने के लिए लंबी-लंबी लाइनों में खड़े होकर डॉक्टर के आने का इंजतार करते रहा। लेकिन घंटों इंतजार के बावजूद भी हॉस्पिटल  में सिर्फ एक ही डॉक्टर नजर आया।  डॉक्टरों के हॉस्पिटल में न होने से मरीजों ने हाहाकार मचा दिया।

वहीं हॉस्पिटल पहुंचे डॉक्टर अभय सिंह ने अपनी सफाई में कहा कि  सोहाना में एक कैंप की वजह से सभी डॉक्टर वहां चले गए। अस्पताल के यह हालात देख लगता है कि सरकार के वादे और और स्वास्थय विभाग की सुविधाएं  दोनों ही कागजों में सिमट कर रह गए हैं।

सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के अभाव से मरीज प्राइवेट अस्पतालों में जाने को मजबूर हो जाते है। वहीं प्राइवेट अस्पताल मनचाही फीस वसूलने में कोई कसर नहीं छोड़ते। सरकारी अस्पतलों में डॉक्टर नहीं, निजी अस्पतालों की ज्यादा फीस ,अब  सोचने वाली बात तो यह है कि गरीब अपना इलाज कहां करवाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *