6 महीने पहले हुई थी शादी, तीन महीने बाद गूंजने वाली थी किलकारियां, पर देश के लिए हुए शहीद

Breaking Uncategorized अनहोनी चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

अम्बाला के तेपला गांव निवासी विक्रमजीत सिंह  मंगलवार को जम्मू कश्मीर के गुरेज सेक्टर में शहीद हो गए। सेना की 36 आरआर और 9 ग्रेनेडियर ने मिलकर जम्मू कश्मीर के गुरेज में एलओसी के नाने सेक्टर और बकतूर में सर्च अभियान चलाया। जिसके दौरान आतंकियों की घुसपैठ को रोकने के लिए गोली बारी की गई ।

गोलीबारी में दो उग्रवादियों को मारने में सफलता मिली, जबकि सेना के चार जवान शहीद हो गए।जैसे ही विक्रमजीत के घर पर इस बात की खबर मिली तो घर में सन्नाटा छा गया। सभी परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया। आपको बता दें की शहीद विक्रमजीत की पत्नी हरप्रीत 6 महीने की गर्भवती हैं।
शहीद होने से पहले विक्रमजीत ने पत्नी से बात की थी। जिसे सुनकर शायद आपकी भी आंखों में पानी आ जायेगा।

हरप्रीत ने बताया की सोमवार को लगभग एक घंटा विक्रमजीत से बात हुई थी। इस दौरान उन्होंने सब का हाल चाल पूछा ,वहां की परिस्थिति और यूनिट के बारे में बताया। ये भी बता रहे थे की रोजाना सीजफायर होता है। रोजाना जोरदार धमाके होते हैं। वे बहुत भावुक हो रहे थे लेकिन मुझे ये नहीं पता था की मैं आखरी बार बात कर रही हूं। बोल रहे थे की टेंशन मत लेना, मैं डिलीवरी से पहले आ जाऊंगा और तुम्हारे साथ रहूंगा।
तेपला गांव के लोगों का कहना हैं की हमारे गांव की मिटटी में  सैनिक बनने का जजबा है। इससे पहले भी गांव के ही दो जवान कारगिल युद्ध के दौरान मेजर गुरप्रीत सिंह और वर्ष 2005 में जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए हरजिंदर सिंह शहीद हो गए थे। वहीं अरुणाचल प्रदेश में ड्यूटी के दौरान पहाड़ से पैर फिसलने पर विनोद सिंह की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *