Home Breaking जमीनी विवाद को लेकर कलयुगी बेटे ने की पिता की हत्या, शव को घर के आंगन में दफनाया

जमीनी विवाद को लेकर कलयुगी बेटे ने की पिता की हत्या, शव को घर के आंगन में दफनाया

0
0Shares

Yuva Haryana,

Hisar, 7 Jan,2019

पिता के जमीन नाम ना करने पर बेटे ने पिता की डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी और शव को घर के आंगन में दफना दिया। बताया जा रहा है कि आरोपी सोनू और उसके साले राहुल ने 17 दिसंबर को इस वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने सोनू को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर 20 दिन बाद को शव को घर के आंगन से बरामद किया है। शव की बरामदगी के वक्त नायब तहसीलदार प्रकाशवीर, डीएसपी जयपाल सिंह व थाना प्रभारी प्रहलाद सिंह मौजूद रहे। आरोपी सोनू को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा जबकि राहुल अभी तक फरार है। पुलिस ने मृतक सतबीर की बेटी मुकेश रानी के बयान पर सोनू और नियाणा गांव निवासी उसके साले राहुल के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

मामला बरवाला के समीपवर्ती गांव हसनगढ़ का है। हसनगढ़ निवासी सतबीर (58) अपने सबसे छोटे बेटे सोनू (26) के डर से पिछले छह महीने से समीप के गांव कल्लर भैणी के एक ढाबे पर रहता था। सतबीर के नाम नौ एकड़ जमीन है और तीन एकड़ जमीन उसके भाई की भी उसी के पास थी। जिसे लेकर लंबे समय से सोनू जमीन अपने नाम करवाने का लिए सतबीर पर दबाव बना रहा था। बताते हैं कि जमीन नाम नहीं करने पर सोनू ने सतबीर के साथ कई बार मारपीट की थी। सतबीर की पत्नी का कई साल पहले निधन हो चुका है।

जानकारी के अनुसार, 17 दिसंबर को सोनू और उसका ममेरा साला कल्लर भैणी होटल पर गए और सतबीर को अपने साथ ले गए। सोनू और राहुल ने घर पर सतबीर की डंडों से पीटकर हत्या कर दी और घर के आंगन में गड्ढा खोदकर शव को दबा दिया। कई दिनों से जब सतबीर का पता नहीं चला तो 31 दिसंबर को सतबीर की बेटी सिंघवा निवासी मुकेश रानी ने बरवाला पुलिस स्टेशन में सतबीर के लापता होने की रपट दर्ज करवाई।

पुलिस द्वारा मामले कि छानबीन करने पर सोनू के घर के आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि सतबीर को अंतिम बार सोनू के घर आते देखा गया था। इसके बाद वह दिखाई नहीं दिया। इसके बाद पुलिस को सोनू पर शक हुआ। सोनू को काबू कर पूछताछ की गई तो उसने हत्या कि बात कबूल ली। पुलिस ने सोनू को हिरासत में लेकर उसकी निशानदेही पर सोनू से गड्ढे को खुदवाया और शव को बरामद किया। सोनू व राहुल ने जिस समय वारदात को अंजाम दिया, उस वक्त घर में कोई नहीं था। सोनू की पत्नी मायके गई हुई थी।

सतबीर के तीन बेटे और दो बेटियां हैं। सभी विवाहित हैं। एक बेटा सुभाष अपनी बुआ के पास रहता है, जबकि मोनू खेत में बनी ढाणी में रहता है। सबसे छोटा बेटा सोनू गांव में रहता है।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राहत की खबर- हरियाणा का यह जिला फिर हुआ कोरोना मुक्त, एक मरीज को किया डिस्चार्ज

Yuva Haryana, Yamunanagar कोरोना का क…