यमुनानगर, करनाल और फरीदाबाद के 59 गांवों में विशेष गिरदावरी के आदेश

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 18 August, 2018

हरियाणा सरकार ने बाढ़ और बरसात से प्रभावित यमुनानगर, करनाल और फरीदाबाद के 59 गांवों में खराब हुई फसलों की विशेष गिरदावरी के आदेश दिये हैं। इन गांवों की करीब 9443 एकड़ फसल खराब होने की संभावना है। जिसके चलते इन गांवों के किसानों की फसलों की विशेष गिरवादरी होगी।

इसकी जानकारी देते हुए वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया कि जिला उपायुक्तों की तरफ से रिपोर्ट आने के बाद ये आदेश जारी किये गए हैं। प्रभावित हुई फसलों में धान, ज्वार, बाजरा, कपास और अन्य प्रकार की फसलें और सब्जियां शामिल है।

कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की यमुनानगर के 26 गाँवों में खराब हुई फसलों की विशेष गिरदावरी करवाई जा रही है. इन गाँवों में ओदरी, लापरा, कात, मंडी, महमूदपुर, बाकरपुर, मंडोली, कलानौर, इसरपुर, टापू कमालपुर, बीबीपुर, जयरामपुर जागीर, माजरी टापू, बीड टापू, जोधपुर, नाहरपुर, बलाचौर, खारवन, भुखडी, सुढैल, भम्भोली, भम्भोल, कान्हडी खुर्द, नगला जागीर, हंगोली और सुढल शामिल हैं. यमुनानगर के इन गाँवों में करीब 1260 एकड़ फसल बाढ़ और बारिश के पानी से प्रभावित हुई है।

उन्होंने बताया की करनाल जिले के 15 गांवों में विशेष गिरदावरी होगी. इन गांवों में चंद्राव, गढ़पुर टापू, नबियाबाद, कलसौरा, सैयद छपरा, हलवाना, नागल, कमालपुर रोडान, ततारपुर, जपती छपरा, रंदौली, डबकौली कलां, चौगामा, बलहेडा और गढ़ीमलल शामिल हैं. करनाल के इन गाँवों में करीब 7342 एकड़ फसल बाढ़ और बारिश के पानी से प्रभावित हुई है।

उन्होंने बताया की फरीदाबाद के 18 गाँवों में विशेष गिरदावरी करवाने के आदेश दिए हैं. इनमें छायंसा, मकनपुर, शाहजहांपुर, लतीफपुर, जाफरपुर माजरा छायंसा, साहुपुरा खादर, मोहना, मोहियापुर, पन्हेडा खुर्द, नरियाला, नरहावली, महमूदपुर, अटेरना, जवां, हीरापुर, लालपुर, बसंतपुर और अगवानपुर गाँव शामिल हैं. राजस्व मंत्री ने बताया की फरीदाबाद के 18 गाँवों में 841 एकड़ फसल बाढ़ और बारिश के पानी से प्रभावित हुई है।

कैप्टन अभिमन्यु ने बताया की इन सभी गांवों में अविलम्ब विशेष गिरदावरी करने के आदेश विभाग को दिए गये हैं. उन्होंने बताया की जैसे ही इस गिरदावरी की रिपोर्ट प्राप्त होगी उस पर तुरंत कार्रवाई की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *