हरियाणा में यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए 2100 गृह रथी सड़कों पर उतरेंगे

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 26 July, 2018

हरियाणा पुलिस महानिदेशक बी0 एस0 सन्धू ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक जिले में यातायात प्रबंधन को सुनिश्चित करने के लिए 100-100 गृह रक्षी की तैनाती की जाएगी। इससे राज्य में सड़क और यातायात सुरक्षा को और अधिक बेहतर बनाने में मदद मिल सकेगी।

सन्धू आज पुलिस मुख्यालय पंचकूला में हरियाणा यातायात पुलिस द्वारा सड़क सुरक्षा पर संकलित की गई पुस्तक ‘यातायात प्रहरी‘ के प्रवेशांक का लोकार्पण करने उपरान्त उपस्थित अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य में कुशल यातायात प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए लगभग 2100 गृह रक्षी की नियुक्ति के लिए अनुमति प्रदान की है। इन सभी को 15 अगस्त से पहले प्रत्येक जिले में तैनात कर दिया जाएगा। इससे प्रदेश मे यातायात पुलिस की बल मिलने के साथ-साथ यातायात व्यवस्था में सकारात्मक सुधार होगा।

सड़क सुरक्षा को एक कुशल और सुरक्षित यातायात प्रबंधन प्रणाली का आधार बताते हुए श्री सन्धू ने कहा कि हरियाणा पुलिस द्वारा राज्य में लगातार सड़क दुर्घटनाओं को कम करके यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाया जा रहा है। सरकार ने हाल ही में ट्रैफिक पुलिस के लिए अत्याधुनिक उपकरणों और वाहनों की खरीद के लिए रोड सेफ्टी फंड के तहत नौ करोड़ रूपये मंजूर किए हैं। उन्होने कहा कि आने वाले समय में सड़क सुरक्षा में और अधिक सुधार किया जाएगा।

उन्होंने सड़क सुरक्षा को लेकर की गई इस पहल के लिए डीआईजी यातायात, श्री राकेश कुमार आर्य और यातायात पुलिस को बधाई देते हुए कहा कि यह कदम निश्चित रूप से यातायात उल्लंघन की घटनाआें में कमी लाने व आमनज को सड़क सुरक्षा बारे जागरुक करने में सहायक सिद्ध होगा।

इस अवसर डीआईजी यातायात, राकेश कुमार आर्य ने बताया कि आज इस पुस्तक के प्रथम संस्करण का लोकार्पण किया गया है और इसे तिमाही आधार पर प्रकाशित किया जाएगा। पुस्तक के आगामी विषेषांक में यातायात शिक्षा, सड़क अभियांत्रिकी और स्वास्थ्य सेवाओं को शामिल किया जाएगा। उन्होने कहा कि यातायात पुलिस हमेशा लोगों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और सड़क दुर्घटनाओं के खतरे को दूर करना हमारी प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा कि यातायात प्रहरी पुस्तक को शैक्षणिक संस्थानों, पुस्तकालयों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों के साथ-साथ राज्य में सार्वजनिक और निजी कार्यालयों में व्यापक रूप भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *