राई स्पोर्ट्स स्कूल बनेगा खेल विश्वविद्यालय, राज्य की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी होगी

Breaking खेल बड़ी ख़बरें युवा सरकार-प्रशासन हरियाणा
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 18 May, 2018
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने घोषणा की है कि सोनीपत के मोतीलाल नेहरू स्पोट्र्स स्कूल, राई (सोनीपत) को खेल विश्वविद्यालय का दर्जा दिया जाएगा, जो प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय होगा। 
मुख्यमंत्री आज सोनीपत के खरखौदा में दीनबंधु छोटूराम कुश्ती अकादमी का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा कि खेलों का विकास व खिलाडियों का कल्याण हरियाणा सरकार की अहम प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने इस मौके पर दीनबंधु छोटूराम कुश्ती अकादमी के लिए 21 लाख रूपए देने की घोषणा भी की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा प्रदेश खेल के क्षेत्र में देश व दुनिया में स्पोर्टर्स हब के रूप में विकसित हुआ है और खेलों को विकसित करने की दिशा में वर्तमान हरियाणा सरकार ने खेल नीति को व्यवहारिक रूप दिया है और इसी कड़ी में विभिन्न स्तरों पर पदक विजेता खिलाडियों के लिए पुरस्कार राशियों में अभूतपूर्व रूप से वृद्धि भी की गई है, जिसके तहत 6 करोड़ रुपए तक की राशि खिलाडियों को दी जाती है।
राज्य के लोगों के स्वास्थ्य की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गत दिवस हरियाणा में एक साथ 309 गांवों में व्यायामशालाएं  प्रारंभ की गई हैं ताकि परपरांओं को कायम रखा जा सकें और लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में व्यायामशालाओं की स्थापना को निरंतर रूप से विस्तार दिया जाता रहेगा। हरियाणा में विद्यालयों में 09 वर्ष से 14 वर्ष तक की आयु के बच्चों के  लिए भी 525 खेल नर्सरियां स्थापित की गई है ताकि बचपन से बच्चे के कौशल और रूचि के अनुसार उसे भविष्य के लिए तैयार किया जा सके। 
मनोहर लाल ने कहा कि हमारे परंपरागत कुश्ती व कबड्डी खेलों को विस्तार देने के लिए इनामी कुश्ती व कबड्डी प्रतियोगिताएं प्रारंभ की गई है, जिनमें एक-एक करोड़ रुपए की दंगल व कुश्ती प्रतियोगिताएं शामिल है। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश  खेल क्षेत्र में प्रारंभ से ही अग्रणी रहा है और अभी हाल ही में हुए कॉमन वैल्थ गेम्स में भारत द्वारा प्राप्त किए गए 66 पदकों में से 22 पदक हरियाणा के खिलाडियों ने प्राप्त किए हैं, जोकि कुछ पदकों को 33 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार प्रदेश को विश्व स्तर पर खेलों के केन्द्र के रूप में विकसित करने की दिशा में विभिन्न स्तरों पर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की आबादी देश में केवल 2 प्रतिशत है परंतु हमारे खिलाडी 33 प्रतिशत तक पदकों को जीत कर लाते हैं जो राज्य के  लिए गर्व की बात है।
हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि हरियाणा प्रदेश के  खिलाडी हमारे देश की शान है। खेल क्षेत्र को विकसित करना हरियाणा सरकार विशेषकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अहम प्राथमिकता है। हरियाणा सरकार ने खेल क्षेत्र के विकास के लिए कई कदम उठाए हैं वित्त मंत्री ने कहा कि खेलों के विकास व खिलाडियों की हर स्तर पर सहायता के लिए वे निजी तौर पर भी सदैव तत्पर हैं। उन्होंने कहा कि आज हमारे खिलाडियों ने देश व विदेशों में धूम मचाई है, जिसके कारण से एक नई अर्थ व्यवस्था खड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि आज कुश्ती व कबड्डी के लीग मैच होते हैं और इन लीग मैचों की टीमों में 80 प्रतिशत तक खिलाडी हरियाणा से संबंध रखते हैं। उन्होंने कहा कि पहले कब्बडी व कुश्ती के खेल मेलों के दौरान होते थे परंतु आज कब्बड्डïी व कुश्ती के लीग मैचों को लोग टेलीविजन पर बडे ही चाव के साथ देखते हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार से खेल व खिलाडी को एक प्रकार से आर्थिक उत्साह मिलता है। 
वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि दीनबंधु छोटूराम कुश्ती अकादमी का नाम किसानों के  हितों के लिए लडऩे वाले दीनबंधू छोटूराम पर रखा गया है, जो कि अकादमी का नाम एक किसान के नाम स जोडऩे का काम किया गया है। 
Read This News Also>>>>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *