प्रदेश की जेलों में बंद महिला कैदी बनाएंगी पैड

बड़ी ख़बरें रोजगार सेहत हरियाणा

हरियाणा की जेलों में सजा भुगत रही महिलाएं अब पैड वूमैन कहलाएंगी। भोंडसी जेल गुरुग्राम की तर्ज पर राज्य की अन्य जेलों में भी 672 महिला कैदियों को पैड बनाने सिखाए जाएंगे। इस समय 19 जेलों में 19859 में से 685 महिला कैदी हैं। हरियाणा राज्य महिला आयोग न सिर्फ पैड मैन्युफैक्चरिंग मशीनें उपलब्ध करवाएगा बल्कि जेलों में ट्रेनिंग के लिए विशेष सैशन भी करेगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल तीन महीने पहले मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर के प्रोजैक्ट शक्ति को अपनाने और सरकारी स्कूलों में सैनेटरी पैड्स नि:शुल्क उपलब्ध करवाने का ऐलान कर चुके हैं। आयोग ने अब महिला कैदियों को दक्षिण भारत के पैड मैन अरुणाचलम मुरुगुनांथम की मशीनों की मदद से स्वरोजगार मुहैया करवाने का फैसला किया है।

हाल ही में राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष प्रीति भारद्बाज ने भोंडसी जेल का दौरा भी किया। जेल में सैनेटरी पैड बनाने वाली महिलाओं के ज्ञान का आंकलन भी किया। जेल में 64 महिला कैदी हैं जबकि सिर्फ 13 ही यह काम कर रही हैं। इनकी ओर से बनाए गए पैड ही राज्य की अन्य जेलों में महिला कैदियों को नि:शुल्क मुहैया करवाए जाते हैं। प्रोजैक्ट के तहत महिलाओं से ट्रेनिंग के बाद पैड तो बनवाए ही जाएंगे साथ ही उन पैड्स को बेचने के लिए सरकारी कार्यालयों में वेंडिंग मशीनें लगाने का प्रस्ताव भी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *