शुक्रवार को आए तूफान से मदरसे की छत गिरी, 14 साल के छात्र की गई जान, मरने से पहले बचाई कई छात्रों की जान

Breaking अनहोनी बड़ी ख़बरें हरियाणा
Yuva Haryana

Nuh, Younus Alvi

शुक्रवार की शाम आए आंधी-तूफान से नूंह जिले के पुन्हाना खंड के गांव झिमरावट स्थित इस्लामी  मदरसे और मस्जिद को भारी नुकसान हुआ। मदरसा और मस्जिद की मिनार टूट कर आठ कमरों पर छतों पर जा गिरी जिसकी वजह से मदरसे में पढ़ने वाले दो बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए थे। अशफाक की अस्पताल ले जाते समय दिल्ली के धौला कुआं के नजदीक मौत हो गई थी। दूसरे छात्र का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अपनी जान गवांकर दूसरों की जान बचाई
मृतक छात्र अशफाक बहुत ही होनहार बालक था। वह मात्र 14 साल का था लेकिन बेहद होशियार था। बहुत की कम उम्र में अशफाक ने कुरान के 30 (पारा) हिस्सों में से 14 को कंठक याद कर लिया था। अशफाक के उस्ताद मोलाना इलयास ने बताया कि जिस समय हादसा हुआ कुछ बच्चे मस्जिद के अंदर पढ रहे थे, जैसे ही तेज हवाओं की वजह से मदरसा की टीन शेड जोर-जोर हिल रही थी तो अशफाक दौडकर मस्जिद के अंदर गया और कुरआन पढ रहे बच्चों और लोगों को निकालने लगा कि तूफान आ रहा है मस्जिद से बाहर निकलो, उसके 10-15 को मस्जिद से निकाल भी दिया था, अचानक मस्जिद की मिनार टूट की मस्जिद की छत पर गिर गई जिसके नीचे अशफाक दब गया। उसके दोनो पैर टूट गए और सिर में गहरी चोट आ गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *