स्टूडेंट पुलिस कैडेट स्कीम में हिस्सा लेने वाले छात्रों को पुलिस भर्ती में दी जाएगी प्राथमिकता -मुख्यमंत्री

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने वाले कैडेट्स को भविष्य में हरियाणा पुलिस में होने वाली भर्ती में वरीयता दी जाएगी।

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को गुरुग्राम से देश भर में स्टूडेंट पुलिस कैडेट(एसपीसी) कार्यक्रम की शुरूआत की। कार्यक्रम में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल सहित कई केन्द्रीय व राज्य सरकार के मंत्रियों ने शिरकत की। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एसपीसी कार्यक्रम को शुरूआती चरण में देश में सभी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों में लागू किया जाएगा। जिसके लिए प्रत्येक स्कूल को शैक्षणिक सहायता, प्रशिक्षण और आकस्मिक खर्च के लिए 50 हज़ार रूपये की राशि उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस अवसर पर केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों में नैतिक मूल्य विकसित कर उन्हें अनुशासित बनाने पर जोर दिया जाये ताकि बच्चे आगे चलकर नए भारत के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।

इसके बाद इस कार्यक्रम को देश के सभी स्कूलों में शुरू किए जाने की योजना है। इस कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिए 67 करोड़ रूपये की राशि राज्यों को जारी की गई है। एसपीसी कार्यक्रम के माध्यम से समाज के हर व्यक्ति द्वारा कानून का पालन स्वैच्छा से करने पर बल देने के साथ साथ अपराध की रोकथाम और नियंत्रण सहित नैतिक मूल्यों पर ध्यान केन्द्रित किया गया है। इस साल यह कार्यक्रम देश के सभी राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों में पॉयलेट आधार पर चलाया जाएगा।
राजनाथ सिंह ने कहा कि इसका उद्देश्य स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों में नैतिक मूल्यों का समावेश कर उन्हें जिम्मेदार, अनुशासित, संस्कारवान और चरित्रवान नागरिक बनाना है। साथ ही इससे स्कूलों में विद्यार्थियों और पुलिस के बीच सामंजस्य की शुरूआत होगी ताकि समाज में शान्ति और जनसुरक्षा के लिए नागरिकों का सहयोग लिया जा सके।

गृहमंत्री ने टीवी, इंटरनेट व सोशल मीडिया के कारण बच्चों पर पड़ते दुष्प्रभाव का जिक्र करते हुए कहा कि इसका प्रभाव आज पूरे समाज पर पड़ रहा है जोकि चिंता का विषय है। ऐसे में हमें घर के साथ साथ स्कूलों में भी बच्चों को चरित्र निर्माण की शिक्षा देने की जरूरत है। बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ उन्हें आदर्श नागरिक बनाने की दिशा में काम किए जाने की आवश्यकता है जिससे उनमें समाज के प्रति संवेदनशीलता उत्पन्न हो। इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए इस  एसपीसी कार्यक्रम को आज राष्ट्रीय स्तर पर लांच किया गया है जोकि समाज व देश में सकारात्मक परिणाम लाएगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट कार्यक्रम को समाज निर्माण की दिशा में मील का पत्थर बताते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने वाले कैडेट्स को भविष्य में हरियाणा पुलिस में होने वाली भर्ती में वरीयता दी जाएगी। इन कैडेट्स के आने से पुलिस विभाग के  काम की गुणवत्ता का स्तर पहले की अपेक्षा बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से विद्यार्थियों मे अनुशासन व समाज के प्रति संवेदनशीलता का भाव पैदा होगा जिससे उनमें समाज की समस्याओं को दूर करने का भाव जागेगा। यह भाव समाज को नई दिशा प्रदान करेगा।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार खेलों में पदक लाने वाले खिलाडिय़ों को पुलिस विभाग में प्राथमिकता दी जाती है उसी प्रकार एसपीसी कार्यक्रम से जुडऩे वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को भी तरजीह देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही प्रदेश सरकार द्वारा 6 हज़ार पुलिसकर्मियों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने पुलिस को सिस्टम का चेहरा बताते हुए कहा कि उनके जनता के साथ अच्छा व्यवहार हो इसके लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *