CM खट्टर ने नूंह नगरपालिका के विकास कार्यों में अनियमितता बरतने वाले अधिकारियों को तुरंत किया सस्पैंड

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh (19 April 2018)

नूंह नगरपालिका के विकास कार्यों में अनियमितता बरतने वाले तत्कालीन पालिका सचिव, पालिका अभियंता तथा कनिष्ठ अभियंता को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के एक-एक पाई के सदुपयोग की व्यवस्था की जा रही है, जो भी विकास कार्यों में कोताही करेगा, उस कर्मचारी, अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा।

वीरवार को अपने आवास पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जनता दरबार लगाया था जिसमें प्रदेश भर से आए नागरिक, संगठनों की परेशानियों को सुनते हुए उनकी समस्या का निदान किया। वहीं नगरपालिका नूंह में विकास कार्यो में कोताही बरतने की शिकायत क्षेत्रीय नागरिकों द्वारा की गई थी।

नूंह से आए प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि वार्ड तीन में एक काम के एवज में 2 लाख 26 हजार रूपए के चेक काट दिए गए, जबकि मौके पर एक ईंट नहीं लगी हुई थी। ऐसे ही 4 लाख 90 हजार रूपए अवैध क्षेत्र में मिट्टी डालने के लिए ठेकेदार को जारी किए, इसमें 30 अप्रैल 2017 को हुई एसडीएम जांच में भी कोताही बरतने की पुष्टि हुई थी। ऐसे में पालिका में अधिकारी मिलीभगत करते हुए सरकारी राजस्व का नुकसान कर रहे हैं तथा सरकार की छवि को धूमिल कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने तुरंत शहरी स्थानीय निकाय निदेशक को तत्कालीन नगर पालिका सचिव राकेश कादयान, पालिका अभियंता लक्ष्मीचंद राघव और कनिष्ठ अभियंता राजेश दलाल को निलंबित करने के आदेश जारी किए।

Read This Also-

बेरोजगारों के लिए खुशखबरी, फरीदाबाद में लगेगा विशाल नौकरी मेला

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *