नामांकन का वक्त 24 घंटे भी नहीं बचा, उम्मीदवार तय नहीं कर पाई भाजपा

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

हरियाणा से राज्यसभा की एक सीट के लिए होने जा रहे चुनाव के लिए भाजपा को सही उम्मीदवार चुनने में कुछ ज्यादा ही वक्त लग रहा है। सोमवार को राज्यसभा की उम्मीदवारी दाखिल करने का आखिरी दिन है लेकिन रविवार दोपहर बाद तक भाजपा प्रत्याशी का चेहरा सामने नहीं आया है।

इस चुनाव के लिए भाजपा के उम्मीदवार की अहमियत इसलिए बहुत ज्यादा है क्योंकि उसका चुना जाना तय है। इकलौती सीट का चुनाव होने और विधानसभा में पार्टी के पास स्पष्ट बहुमत होने की वजह से राज्यसभा में भाजपा का प्रत्याशी ही जीत कर जाएगा।

काफी संभावना है कि विपक्षी दल इनेलो और कांग्रेस इस सीट के लिए अपना उम्मीदवार भी खड़ा ना करें और भाजपा का टिकटार्थी निर्विरोध ही चुन लिया जाए।

अगर सामने कोई उम्मीदवार आता है तो 23 मार्च को वोट डाले जाएंगे और उसी दिन परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। निर्विरोध चुनाव की स्थिति में भी परिणाम उसी दिन आएगा।

क्या बिल्लियों की लड़ाई में बंदर मार जाएगा बाज़ी ?

हरियाणा से उम्मीदवारी के लिए लगभग एक दर्जन नेताओं के नाम पर विचार होने की खबर है जिनमें ऐसे चेहरे भी हैं जो हरियाणा सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर है। कुछ ऐसे नेता भी राज्यसभा जाना चाहते हैं जिन्होंने अतीत में हरियाणा भाजपा के लिए काफी काम किया है। इनके अलावा केंद्रीय नेतृ्त्व के कुछ नेता भी हरियाणा की सीट पर राज्यसभा जाना चाहते हैं। संभावना जताई जा रही है कि हरियाणा के नेताओं पर एक राय ना बनने के कारण केंद्र से ही कोई चेहरा राज्यसभा जाने वाला है।

भाजपा के हरियाणा प्रभारी अनिल जैन के अलावा जीवीएल नरसिम्हा और सरोज पांडेय समेत कई नेता राज्यसभा जाने वाले संभावितों में शामिल हैं। अगर हरियाणा के किसी सक्रिय चेहरे पर सहमति नहीं बनी तो इनमें से किसी को पार्टी टिकट दे सकती है।

राज्यसभा में हरियाणा के लिए 5 सीटें हैं। कांग्रेस नेता शादी लाल बत्रा का कार्यकाल पूरा होने पर चुनाव हो रहा है।