दिल्ली रैली में SYL, स्वामीनाथन मामले में इनेलो का सरकार को 1 मई तक का अल्टीमेटम, फिर करेंगे जेल भरो आंदोलन शुरू

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

दिल्ली के रामलीला मैदान में किसान अधिकारी रैली आयोजन INLD के द्वारा किया गया था। जिसको सम्बोधित करते हुए नेता विपक्ष चौधरी अभय सिंह चौटाला ने केंद्र और राज्य की सरकार को कहा कि अगर एक मई से पहले SYL नहर के निर्माण का काम शुरू नहीं किया गया तो इनेलो जेल भरो आंदोलन चलाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार को अभी तक भी एसवाईएल के कानूनी फैसले की पेचिदगियां समझ नहीं आई हैं जबकि सर्वोच्च न्यायालय प्रदेश के पक्ष में फैसला दे चुका है।

इनेलो के वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा कि दादूपुर-नलवी नहर परियोजना जो राज्य में भू-जल स्तर के सुधार के लिए बहुत उपयोगी होनी थी, सरकार ने उसको केवल इस वजह से रद्द कर दिया क्योंकि उस योजना में सरकार को कोई मुनाफा नहीं दिख रहा था। लेकिन ऐसा करते हुए भाजपा सरकार यह भूल गई कि इस परियोजना का उद्देश्य केवल बरसात के मौसम में यमुना के अतिरिक्त जल का सिंचाई के लिए प्रयोग करना ही नहीं था। यह नहर यमुनानगर, अम्बाला और कुरुक्षेत्र जिलों के 2.25 लाख एकड़ भूमि की सिंचाई के अतिरिक्त भू-जल स्तर के मामले में भी उपयोगी थी।

बता दें कि अम्बाला और कुरुक्षेत्र में बड़ी तेजी से भू-जल स्तर के मामले में डार्कजोन होने वाले हैं। यदि यही स्थिति रही तो जिस प्रकार दक्षिण हरियाणा भू-जल स्तर के मामले में डार्कजोन में घोषित किया जा चुका है उसी प्रकार बचा हुआ हरियाणा भी डार्कजोन बन जाएगा और यहां की उपजाऊ भूमि बंजर हो जाएगी।

अभय चौटाला ने कहा कि एसवाईएल, स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने, दादूपुर नलवी नहर, मेवात कैनाल, कर्मचारियों और दूसरे मुद्दों के लिए आर पार की लड़ाई लड़ेगी। अभय सिंह चौटाला ने कहा कि वे आज पूर्व मुख्यमंत्री और इनेलो सुप्रीमों चौधरी ओमप्रकाश चौटाला से मिलकर आए हैं, उन्होंने सन्देश दिया है कि यह गूंगी बहरी सरकार बगैर आंदोलन किए कुछ नहीं देगी, अगले कुछ माह किसानों के फसल कटाई और कढ़ाई में व्यस्थ रहने वाले है, इसलिए 1 मई से जेल भरो का बड़ा आन्दोलन खड़ा करेंगे।
रैली में उमड़ी भीड़ से चौटाला काफी खुश नजर आये और उन्होंने मंच से कहा कि वे 2017 में जब नहर खोदने गए तो सरकार ने उनके रास्ते में पुलिस खड़ी कर दी और उनको 6 दिन जेल में डाल दिया। अभय सिंह चौटाला ने कच्चे कर्मचारियों को नियमित करने, आशा वर्कर्स, आंगनवाड़ी वर्कर्स, लेब टेक्नीशियन, कम्प्यूटर टीचर जैसे मामलों में खट्टर सरकार की जमकर निंदा की,
CM खट्टर के आंगनवाड़ी वर्कर्स को लाल झंडा कह कर संबोधित करने वाले ब.न को महिलाओं का अपमान करार दिया है, चौटाला ने कहा भाजपा हर जगह भगवा झंडा करना चाहती है।
मंच से घोषणाओं का पिटारा खोलते हुए चौटाला ने कहा कि इनेलो की सरकार बनने पर हर बेरोजगार को नोकरी देंगे, यदि फिर भी कोई बेरोजगार रह गया तो उसको 15 हजार हर माह मानदेय देंगे, हर गरीब कन्या की शादी में 5 लाख रुपए का चेक दिया जाएगा।
INLD के नेता चौटाला ने कहा कि रैली में भारी संख्या में महिलाएं खाली मटके और हल लेकर आई थी। वहीं रामलीला ग्राउंड को इससे पहले चौधरी देवीलाल ने कई बार किसानों की मांग के लिए ठसाठस भरा हुआ है, और आज भी यह ग्राउंड पूरा भरा है, भारी संख्या में लोग रैली के बाहर खड़े हैं, दिल्ली में पुलिस ने काफी वाहनों को रोकने का काम किया जिससे अधिकांश लोग रैली में नही पहुंच सके। रैली को इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा, सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला, रामपाल माजरा, कर्ण चौटाला, जसविंदर सिंह सिंधु ने भी सम्बोधित किया।
तो वहीं सांसद दुष्यंत सिंह चौटाला ने केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश की खट्टर सरकार की जमकर आलोचना की, गन्ने के बारे में कहा भाव 330 रुपए प्रति किवंटल, लेकिन एक किसान का प्रति एकड़ 150 किवंटल का बांड बना दिया, बाकी गन्ना किसानों को सस्ते दामों पर बेचने को मजबूर होना पड़ा है। अशोक अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा में कमजोर सरकार है यदि चौटाला साहब मुख्यमंत्री होते तो पंजाब के रास्ते बंद कर देते, दिल्ली का पानी रोक देते, लेकिन अपना हक लेकर रहते। एसवाईएल के मामले में चौधरी देवीलाल ने सबसे अधिक काम किया, चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के कार्यकाल में पहले 2002 और फिर 2004 में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आया। खट्टर सरकार तो 10 नवम्बर 2016 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रेजिडेंशियल रिफ्रेंस पर निर्णय दिए जाने के बाद आज तक पीएम से नहीं मिल पाए, जबकि सर्वदलीय मीटिंग में लिखित में दिया हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *