मार खाए बन्दर और माल खाए मदारी- अन्ना हजारे

22 साल में 12 लाख किसानों ने आत्महत्या की। किसान की हालत ऐसी हो गई है कि किसान के पास झोंपड़े नहीं और घर भर रहे हैं दूसरों के। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने चंदावली गांव स्थित आईएमटी शिलान्यास स्थल पर जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने 23 मार्च को दिल्ली में […]

Continue Reading

धमकियों के चलते एक और अन्नदाता ने दी जान

पलवल के सिहौल गांव में एक किसान ने डीएसपीआई मिल्क प्लांट के अन्दर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह कंपनी से निकलने वाली काली राख से फसल खराब होने से दुखी था और शिकायत करने पर कंपनी प्रंबधन उसको जान से मारने की धमकी दे रहे थे। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए पलवल […]

Continue Reading