अफसरों की तरह अध्यापकों को भी देना होगा संपत्ति का ब्योरा, तभी मिलेगी सैलरी

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Gourav Sagwal, Yuva Haryana

Chandigarh

प्रदेश के सभी अध्यापकों को शिक्षा विभाग में अपनी संपत्ति का पूरा ब्योरा देना पड़ेगा जिसके बाद ही जून माह का वेतन जारी होगा। शिक्षा निदेशालय ने सभी शिक्षा अधिकारियों को चिठ्ठी लिख कर संपत्ति का ब्योरा मांगा है।

पत्र में जानकारी के अनुसार पहले, दूसरे औऱ तीसरे रैंक के शिक्षकों को 30 जून तक अपनी संपत्ति का ब्योरा देना होगा।

बता दें कि पहले रैंक में DEO, DEEO, और डाइट प्रिंसिपल आते है। दूसरी श्रेणी में प्रिंसिपल, डिप्टी DEO, हेडमास्टक, लेक्चरर, BEO, आते है। वहीं तीसरी श्रेणी में JBT, PGT आते है।

अध्यापकों से नक़दी समान, गहने, लेकर घर गाड़ी तक की जानकारी मांगी गई है। जिसके लिए विभाग ने चल औऱ अचल संपत्ति के लिए अलग-अलग प्रपत्र जारी किए है।

अध्यापकों से नक़दी समान, गहने, लेकर घर गाड़ी तक की जानकारी मांगी गई है। जिसके लिए विभाग ने चल औऱ अचल संपत्ति के लिए अलग-अलग प्रपत्र जारी किए है।

इसका असर प्रदेश के 2.70 लाख अध्यापकों पर पड़ने वाला है। वहीं निदेशालय का कहना है कि तीनों रैंक के अधिकारियों का वेतन इसलिए रोका गया क्यूंकि सरकार ने दिसंबर 2016 में संपत्ति का ब्योरा देने का रूल बनाया था। जिसको अध्यापकों ने सीरियस नहीं लिया। इस कारण विभाग ने यह फैसला लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *