दस दिन की छुट्टी पर गए किसान, कुछ सामान चाहिए तो गांव आइए

Breaking खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Gourav Sagwal, Yuva Haryana

Chandigarh

कभी-कभी बहुत कुछ देश में पहली बार होता है। ऐसा ही पहली बार हुआ है कि आज से देश और हरियाणा के किसान 10 दिन की छुट्टी पर है।

1 जून से 10 जून तक किसान किसी भी शहर में फल-सब्जी, दूध की सप्लाई नहीं करेंगे। वहीं अगर शहरी लोगों को कुछ चाहिए तो उन्हें गांव का रुख करना पड़ेगा।

बता दें कि किसान केंद्र और राज्य सराकर की नीतियों के विरोध में ये सब कर रहे है।

राष्ट्रीय किसान महासंघ की यह रणनीति है कि कोई भी किसान शहर के तरफ अपना समान लेकर ना जाएं। वहीं राष्ट्रीय किसान महासंघ के वरिष्ठ सदस्य व भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी ने बताया कि स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू नहीं करने और कर्ज माफी नहीं होने पर किसानों को यह कदम उठाना पड़ रहा है।

उन्होंने बताया कि 62 किसान संगठनों को इस हड़ताल का समर्थन है। वहीं किसानों ने इस दौरान गांवों से शहरों को खाद्य पदार्थों की सप्लाई नहीं होने देने की पूरी रणनीति बना ली है।

गुरनाम चढूनी ने यह भी साफ किया है कि इस बंद में वह कोई रोड जाम नहीं करेंगे। किसान अपने घर और गांव में बैठकर शहर और सरकार को अपना दर्द समझाएंगे। आंदोलन के दौरान किसान आढ़तियों से भी पूरी तरह दूरी बनाकर रखेंगे।  किसानों द्वारा एक दूसरे से उधार लेकर ही 10 दिन तक आर्थिक लेन-देन किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *