बच्चे ने तड़प-तड़प कर दे दी जान, लेकिन अस्पताल की छत से नीचे नहीं आया डॉक्टर

Breaking देश बड़ी ख़बरें सेहत हरियाणा

Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 1 May, 2018

रोहतक शहर में एक निजी हॉस्पिटल के डॉक्टर की लापरवाही के चलते एक सवा साल के बच्चे की मौत का मामला सामने आया है। छोटूराम चौक पर स्थित सांघी हॉस्पिटल में एक हैजे के कारण दो दिन पहले भर्ती करवाया था। बच्चे की देर रात को बच्चे की हालात ज्यादा बिगड़ गई ।

बच्चे के परिजन बढ़ती ख़राब हालात को देखते हुए डॉक्टर को बार बार बुलाने की गुहार लगा रहे थे लेकिन हॉस्पिटल के स्टाफ ने उनकी एक न सुनी और ना ही हॉस्पिटल के डॉक्टर उसे देखने के लिए नीचे आये। जबकि हॉस्पिटल में ऊपर ही उनका मकान है। अगर डॉक्टर समय रहते बच्चे का इलाज कर लेते तो उस मासूम ध्रुव की जान बच सकती थी। आज सुबह बच्चे ने हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया।

डॉक्टर की एक बड़ी लापरवाही के कारण बच्चे की जान चली है। बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने डॉक्टर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने आज बच्चे का पीजीआई रोहतक में पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों के हवाले कर दिया। पुलिस ने डॉक्टर अनिल सांघी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मृतक ध्रुव के पिता ने बताया कि मेरे सवा साल के बेटे ध्रुव को सांघी हॉस्पिटल में हैजे के कारण भर्ती करवाया था। कल देर ज्यादा तबयित खराब हुई हमने बार स्टाफ को डॉक्टर को बुलाने को कहा मगर डॉक्टर नहीं आये स्टाफ अपनी मर्जी से दवाई देता रहा । आज सुबह बच्चे ने दम तोड़ दिया। मैंने डॉक्टर और स्टाफ के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

वहीँ पुलिस ने कहा कि रोहित मृतक बच्चे के पिता की शिकायत पर डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया उसकी जाँच की जायेगी। जाँच के दौरान दोषी पाए जाने के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को दे दिया है।

Read This News Also >>>>>

स्कूल में ड्यूटी टाइम पर सो रहे हैं अध्यापक, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल 

1 thought on “बच्चे ने तड़प-तड़प कर दे दी जान, लेकिन अस्पताल की छत से नीचे नहीं आया डॉक्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *