निर्भया गैंग रेप में कोर्ट ने ठुकराई दोषियों की पुनर्विचार याचिका, फांसी की सजा बरकरार

Breaking देश बड़ी ख़बरें हरियाणा

Gourav Sagwal, Yuva haryana

Chandigarh

सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप केस के बड़ा फैसला देते हुए दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखी है। कोर्ट ने तीन दोषियों की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। तीन जजों की बेंच ने इस पर सुनवाई करते हुए अपना फैसला सुनाया।

बता दें कि आरोपियों की तरफ से दायर याचिका में फांसी की सजा पर रोक लगाने की मांग की गई थी। दोषी गुप्ता पवन गुप्ता (22), मुकेश (29) और विनय शर्मा (23) ने याचिका दायर पर कोर्ट से फांसी की सजा रोक की मांग की थी, जबकि चौथे दोषी ने समीक्षा याचिका दायर नहीं की।

आरोपियों में से एक राम सिंह ने तिहाड़ जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। छठा आरोपी, जो उस समय किशोर था, को किशोर न्याय बोर्ड द्वारा दोषी पाया गया था। 3 साल जेल में रहने के बाद में उसे एक सुधार घर से रिहा कर दिया गया।

निर्भया के माता-पिता ने विश्वास व्यक्त किया है कि न्याय जीत जाएगा और उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी। निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, ‘घटना को 6 साल हो गए हैं। इसी तरह की घटनाएं अभी भी हर रोज होती जा रही हैं, हमारा सिस्टम विफल रहा है। हमें पूरा भरोसा है कि निर्णय हमारे पक्ष में होगा और हमें न्याय मिलेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *