हरियाणा की बेटी ने कायम की मिसाल, 19 साल में बनी लेखिका

चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Deepak Khokhar, Yuva Haryana
Rohtak, 10-04-2018

रोहतक में 19 साल की बेटी भव्या शौकीन ने अपनी किताब लिखकर यह साबित कर दिया है कि अगर कुछ करने की चाह हो, तो उम्र मायने नहीं रखती। जी हां, छोटी सी उम्र मे “I Know It’s Worst” किताब लिख भव्या ने एक मिसाल कायम कर दी है।

इस किताब में भव्या ने समाज में लड़कियों के महत्व को दर्शाया है। किताब के माध्यम से यह संदेश दिया है कि आज के समय में लड़कियां किसी मायने में लड़कों से कम नहीं हैं। 19 साल की लेखिका वनस्थली विद्यापीठ राजस्थान में बीए इंग्लिश ऑनर्स की छात्रा हैं। वे इंडस पब्लिक स्कूल रोहतक की भी पढ़ाई कर चुकी है।

भव्या अन्य लड़कियों के लिए एक उदाहरण बन चुकी है। भव्या का कहना है इस किताब के माध्यम से वे समाज में लड़कियों के महत्व को दिखाना चाहती है। उनका कहना है कि समाज में अभी भी कहीं न कहीं लोग लड़की से ज्यादा लड़कों को महत्व देते हैं। किताब के जरिेए वह लोगों की इस मानसिकता को दूर करना चाहती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *