नोटबंदी का नहीं दिख रहा असर, फिर से कैश की जमाखोरी शुरू

Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें

Yuva Haryana

Haryana, 27-04-2018

देश के कई हिस्सों में सूखे एटीएम को भरने के लिए, रिजर्व बैंक अपनी नोट छापने की प्रेसों में छपाई का काम तेजी से बढ़ा चुका है। रिजर्व बैंक दवारा जारी डेटा बताता है कि लोग कैश की जमाखोरी फिर से करने लगे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, लोग जितना पैसा निकाल रहे हैं, उतना खर्च नहीं कर रहे।

इससे पता चलता है कि कैश की जमाखोरी नोटबंदी से पहले वाले हाल पर ही है। अर्थशास्त्रियों का कहना है कि आमतौर पर बैकों और एटीएम से निकाले गए कैश को फिर से सर्कुलेशन में आने में कुछ महीने का वक्त लगता है। इस कारण RBI के साप्ताहिक डेटा से यह अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है कि कितना कैश जमा हुआ है।

लेकिन डेटा से यह अनुमान जरूर लाया जा सकता है कि नकद जमा करने की ट्रेंड चल रहा है। RBI द्वारा जारी डेटा पर नजर डालें तो 20 अप्रैल को खत्म हुए हप्ते में बैंकों से 16,340 करोड़ रूपये निकाले गए। अप्रैल के पहले तीन हफ्तों में कुल 59,520 करोड़ रूपये निकाले गए। जनवरी से मार्च में कुल 1.4 लाख करोड़ रूपये निकाले गए,जो 2016 की इसी तिमाही से 27 प्रतिशत ज्यादा है।

1 thought on “नोटबंदी का नहीं दिख रहा असर, फिर से कैश की जमाखोरी शुरू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *