प्रदेश के किसानों की फसल का होगा साइलो भंडारण, जानिए कहां-कहां अपनाई जाएगी तकनीक

खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Suman Kashyap, Yuva Haryana

Haryana, 08-05-2018

अन्नदाताओं की मेहनत अब बेकार नहीं जाने वाली है। फसल तैयार होने के बाद किसानों को भंडारण की चिंता हर समय सताती रहती थी। अब इस परेशानी से भी उन्हें निजात मिलने वाला है।

जी हां, हरियाणा सरकार ने किसानों की खून पसीने की मेहनत से तैयार की गई फसल के सुरक्षित और वैज्ञानिक भंडारण के लिए एक नवीनतम तकनीक अपनाने की योजना बनाई है।

यह निर्णय खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले राज्य मंत्री कर्णदेव कंबोज की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में लिया गया है। अब जल्द ही अंबाला, सिरसा फरीदाबाद, रोहतक, भिवानी, जगाधरी, पानीपत, टोहाना, करनाल और नरवाना में साइलो तकनीक के 12 गोदामों का निर्माण करवाया जाएगा।

कर्णदेव कंबोज ने कहा कि भारतीय खाद्य निगम को 3 लाख मीट्रिक क्षमता के स्टील साइलो बनाने की स्वीकृति पहले ही मिल गई है। इसके अलावा 4.5 लाख मीट्रिक टन की क्षमता की स्वीकृति उच्च अधिकार प्राप्त कमेटी द्वारा अप्रूव्ड की जा चुकी है। शेष दो लाख मीट्रिक टन की स्वीकृति फाईल प्रक्रिया पर जारी है।

बैठक में कंबोज ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि किसान दिन-रात मेहनत करके देश के लिए अनाज पैदा करता है। खाद्यानों का एक-एक दाने का भंडारण सुरक्षित हो, इसके लिए हमें नवीनतम तकनीकों को उपयोग करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *