बॉम्‍बे हाईकोर्ट के 156 साल के इतिहास में पहली बार हुआ जब एक जज ने लगातार 16 घंटों तक मामलों का सुनवाई की

देश बड़ी ख़बरें

बॉम्‍बे हाईकोर्ट के 156 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी जज ने लगातार 16 घंटों तक मामलों में सुनवाई की हो, वो भी तड़के 3.30 बजे तक। यह सच है, बॉम्बे हाईकोर्ट के जज जस्टिस शाहरुख जे कथावाला ने ऐसा किया है।

हुआ कुछ यूं कि, गर्मी की छुटि्टयों के चलते हाईकोर्ट 3 जून तक बंद रहेगा और शुक्रवार को आखिरी वर्किंग डे था। जिसके चलते जस्टिस कथावाला अपनी कोर्ट में आए ज्‍यादा से ज्‍यादा केसों को निपटाना चाहते थे, इसलिए साथी जजों के जाने के 10 घंटे बाद तक वह कोर्ट में बैठे रहे और मामलों की सुनवाई करते रहे। इस दौरान जस्टिस कथावाला ने सिर्फ 20 मिनट का ब्रेक लिया।

बता दें कि यह बॉम्बे हाईकोर्ट के 156 साल के इतिहास में पहला मौका था जब किसी जज ने तड़के 3:30 बजे तक अदालत खुली रखी। जस्टिस कथावाला आर्बिट्रेशन, इंटलेक्चुअल प्रोपर्टी राइट्स और कमर्शियल मामलों की सुनवाई करते हैं। साथ ही जानकारी यह भी मिली है कि जस्टिस कथावाला की कोर्ट रूम नंबर 20 में पिछले एक हफ्ते से आधी-आधी रात तक काम चल रहा था।

कोर्ट के आखिरी दिन जब कोर्ट सुबह के 3.30 तक कोर्ट खुली तो उनकी कोर्ट में वकीलों और याचिकाकर्ताओं की भीड़ लगी रही। इस दौरान उन्‍होंने करीब 135 से अधिक मामलों की सुनवाई की जिनमें 70 केस बेहद जरूरी थे।

इस दौरान जस्टिस कथावाला के कोर्ट में एडवोकेट हिरेन कमोद मौजूद थे. उनका कहना था कि ‘मैं सुबह साढ़े 3 बजे कोर्ट से निकलने वाले आखिरी तीन लोगों में से एक था। सुनवाई के दौरान उन्‍होंने केवल 20 मिनट का ब्रेक लिया. वह बिना थके अपनी कोर्ट में बैठे रहे और हर पक्षों के हर तर्क को ध्‍यान से सुनते रहे. काम के प्रति उनकी निष्ठा और समर्पण अनुसरणीय है.’