पहले लहर देखकर बीजेपी में हुए थे शामिल, अब वापस कांग्रेस के हुए बजरंग दास गर्ग

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Vinod Saini ( Edited By Sahab Ram) Yuva Haryana
Hisar, 19 May, 2018

साल 2014 में अनिल जैन की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए हरियाणा व्यापार मंडल के अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने फिर से कांग्रेस में इंट्री कर दी है। आज वो राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हुए।

बजरंग दास गर्ग व्यापारियों के मुद्दों को लेकर पूरे प्रदेश में एक्टिव रहते हैं और वो कांग्रेस और बीजेपी सरकार में अपनी पैठ बना चुके हैं। हुड्डा सरकार के दौरान बजरंग दास गर्ग करीब नौ साल तक कॉन्फेंड के चेयरमैन रहे थे, लेकिन साल 2014 में चुनावों के पास उन्होने अपना पाला बदल लिया था।

बजरंग दास गर्ग 2014 में लोकसभा चुनाव के आसपास बीजेपी के रंग में रंग गए थे, उनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाओं में आगे देखा गया तो वहीं बीजेपी के कई बड़े नेताओं के साथ भी मंच सांझा किया।

क्या है राजनीतिक इतिहास ?

बजरंग दास गर्ग व्यापारी नेता हैं, पिछले काफी समय से वो राजनीति में सक्रिय हैं, कैथल से चुनाव लड़ने की इच्छा  को लेकर वो स्व. चौधरी भजनलाल, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और बीजेपी से वो टिकट मांग चुके हैं, लेकिन उन्हे टिकट नहीं मिल पाया। सबसे पहले वो भजनलाल के साथ मिले थे, उस वक्त भी गर्ग ने टिकट मांगी थी लेकिन टिकट नहीं मिली, उसके बाद भूपेंद्र सिंह हुड्डा के साथ मिल गए, यहां पर भी टिकट मांगी लेकिन उन्हे कॉन्फेंड का चेयरमैन की कुर्सी दी गई, साल 2014 में फिर पाला बदला और बीजेपी में चले गए, यहां पर भी टिकट मांगी लेकिन नहीं मिली। अब एक बार फिर कांग्रेस में आ गए हैं।

सैलजा ने कहा कि भाजपा राज में हर वर्ग दुखी है। चाहे वह व्यापारी हो या फिर किसान। आम जनता के हितों को भी सरकार ने दांव पर लगा दिया है। उन्होंने बताया कि किसानों की फसलों के  सही दाम नहीं मिल रहे  हैं। जिसकी वजह से किसान की आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो रही है। व्यापारी भी जीएसटी की मार झेल रहा है। व्यापारी विरोधी नीतियों के कारण हर व्यापारी त्रस्त है।

हरियाणा व्यापार मंडल के अध्यक्ष बजंरग दास गर्ग ने कहा कि आज प्रदेश किसान व्यापारी परेशानी है जीएसटी को लेकर व्यापारी परेशान है। आर्थिक मंदी के कारण उद्योग धंधे पर काफी असर पडा है टैक्स 5 प्रतिशत से लेकर 18 प्रतिशत कर दिया है। प्रदेश की जनता टैक्स के बोझ के तले दब गई है। उन्होंने कहा कि आज वे कांग्रेस पार्टी में दोबारा से शमिल हो गए है।

Read This News Also>>>>

खुद की जेब से देता हूं अपनी रसोई और दवाई का खर्च, पिछली सरकारों में बनते थे लाखों के फर्जी बिल -सीएम खट्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *