गेस्ट टीचर सरकार की वादाख़िलाफी से नाराज होकर 29 अप्रैल से शुरू करेगें आमरण अनशन

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yunus Alvi,

Yuva Haryana

सरकार द्वारा अतिथि अध्यापकों को बार-बार नियमित करने का आश्वासन देने के बाद नियमित ना करने से अध्यापकों में भारी रोष है। अध्यापकों ने चेतावनी दी है अगर सरकार ने उनको पक्का करने के आदेश 28 अप्रैल तक जारी नहीं किए तो 29 अप्रैल से करनाल में आमरण अनशन शुरू किया जाएगा। इस बारे में बुधवार को गांधी पार्क में अतिथि अध्यापकों की फैसला लिया। बैठक की अध्यक्षता अतिथि अध्यापक संघ के प्रदेश प्रवक्ता सतीश यादव ने की।

अतिथि अध्यापक संघ के प्रदेश प्रवक्ता सतीश यादव ने बताया कि भाजपा सरकार में मौजूदा शिक्षा मंत्री प्रदेश अध्यक्ष रामबिलाश शर्मा ने दिल्ली में जंतर मंतर पर धरना दे रहे अतिथि अध्यापकों को लिखित में आश्वासन दिया था कि उनकी सरकार आने पर पहले कलम से पक्का किया जाएगा। अध्यापको कहना है कि भाजपा सरकार को बने चार साल हो गए अभी तक पक्का करना तो दूर समान काम समान वेतन भी नहीं दे रही है सरकार।

उनका कहना है कि भाजपा सरकार पिछले चार साल में अध्यापकों को पक्का करने के दस बार झूठे आश्वासन दे चुकी है ऐसा ही सीएम ने 14 फरवरी को दिया था कि अध्यापकों को एक सप्ताह के अंदर नई पॉलिसी बनाकर पक्का किया जाएगा। जब तक अध्यापक पक्के नहीं होते तब तक उनको समान काम समान वेतन दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि शहीद फौजी की विधवा एंव दिव्यांग अतिथि अध्यापिका मैना यादव ने अध्यापकों की नौकरी पक्का कराने की मांग के लिए करनाल के करण पार्क में 11 फरवरी को मुंडन करवाया था। जिसके बाद सरकार को काफी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी थी। सीएम ने 14 फरवरी को अतिथि अध्यापकों से मीटिंग कर उनको समान काम समान वेतन लागू करने का वादा किया था परंतु सीएम के आश्वासन को लगभग तीन महीने का समय बीत जाने के बाद भी अब तक सरकार ने अपने वादे पर अमल नहीं किया। जिसके कारण अतिथि अध्यापक मैना यादव ने 29 अप्रैल से आमरण अनशन पर बैठने का फैसला किया है

Read This Story

डिजिटल भुगतान के लिए सोनीपत को पीएम मोदी ने किया सम्मानित

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *