शादी की मंहदी हाथों से उतरी भी नहीं थी, कि ससुराल वालों ने नव-विवाहिता को उतार दिया मौत के घाट

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Younus Alivi-Edited By Suman Kashyap, Yuva Haryana

Mewat, 02-05-2108

हमारे समाज में अभी भी कुछ ऐसी कुरीतियां हैं, जिेन्हें जड़ से खत्म करने  के लिए चाहे कितने  ही प्रयास किए जाए। लेकिन  कुछ ऐसे मामले सामने आ ही जाते है, जिनसे यह साबित जाता है कि इन कुरीतियों का अभी भी समाज में प्रचलन हैं।

जी हां, एक ही मामला सामने आया है, नूंह जिला  के गांव रावली का। जहां दहेज के लोभियों ने नई- नवेली दुल्हन को दहेज के लालच में मौत के घाट उतार दिया।शादी की लगी मेंहदी अभी छूटी भी नहीं थी कि दहेज के लोभी ससुराल वालों ने शादी के दूसरे दिन ही विवाहिता की मारपीट और गला दबाकर हत्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

राजस्थान के तिजारा तहसील के गांव जेरोली निवासी रमेश ने अपनी बेटी सपना की बीते 30 अप्रैल 2018 को नूंह जिला के गांव रावली में बलजीत सिंह के साथ शादी की थी। शादी में रमेश ने अपनी हैसियत के मुताबिक काफी दान दहेज दिया था।  लेकिन दहेज के लोभियों को यह रास न आया।

परिवार वालों का आरोप है कि मंगलवार को उनके पास ससुराल वालों की ओर से फोन आया की तुम्हारी बेटी सपना का बोल बंद है। उसे अलवर अस्पताल ले जा रह हैं। जब वे अलवर पहुंचे तो वहां डाक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया। लडकी के पिता रमेश का आरोप है कि मृतक सपना के ससुराल वाले दान दहेज से खुश नहीं थे। इसलिए आरोपियों ने शादी के दूसरे ही दिन उसकी मारपीट और गला दबाकर हत्या कर दी। पीड़ित परिवार ने आरोपियों के सख्त से सख्त कारवाई करने की मांग की है।

वहीं फिरोजपुर झिरका के DSP संजीव बलारा का कहना है कि परिजनों की शिकायत पर ससुराल पक्ष के आधा दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *