MDU में फिर मिला एक ऐसा पत्र, जिसे पढ़कर विवि में मच गया हड़कंप-जानकर हो जाएंगे हैरान

Breaking चर्चा में हरियाणा हरियाणा विशेष

Suman Kashyap, Yuva Haryana

Rohtak, 18-05-2018

हमारे समाज में एक गुरू का स्थाम सबसे उच्च माना गया है, क्योंकि गुरू ऐसा दीया होता है जो,खुद जलकर, छात्रों की जिंदंगी को प्रकाशित करता है। एक छात्र को सही मार्ग की ओर

ले जाना गुरू के हाथ में होता है।

लेकिन छात्रों को सही मार्ग दिखाने की बजाय, गुरू खुद  ही  पथ भ्रष्ट हो जाए,तो वे किससे सही दिशा दिखाने की उम्मीद रखेंगे। जी हां, रोहतक स्थित महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में ऐसा मामला सामने आया है, जिससे जानकर आप चौंक जाएंगे।

MDU के एक प्रोफेसर पर उसी के विभाग की छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगे है। लेकिन यह आरोप पीड़िता ने नही, बल्कि उसकी सहेली ने MDU प्रशासन को पत्र भेजकर लगाए है। लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही तो देखिए, पत्र मिलने के बावजूद भी विवि प्रशासन ने इस मामले पर जांच कर जरूरी नहीं समझा। अब पीड़िता ने राज्य महिला आयोग को शिकायत भेजकर इंसाफ की गुहार लगाई है

ये है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार एक विभाग के प्रोफेसर के खिलाफ कुलपति कार्यालय को एक पत्र मिला। जिसमें शिकायतकर्ता ने एक प्रोफेसर पर उसी के विभाग की छात्रा से यौन- शोषण के आरोप लगाए हैं। पीड़िता स्नातकोत्तर फाइनल इयर की छात्रा है।

जिसे प्रोफेसर ने अपने घर इस बहाने बुलाया कि वो उसे प्रेक्टिकल में ज्यादा अंक देगा। घर बुलाकर उसने छात्रा का यौन शोषण किया। उसे धमकी भी दी कि अगर उसने किसी को भी इसके बारे में बताया,तो वह उसका करियर तबाह कर देगा।

समाज में बेज्जती होने और करियर बर्बाद होने से डरी- सहमी छात्रा ने हिम्मत जुटा, अपनी सहेली को यह बात बताई और सहेली ने यह कदम उठाया। आपको बता दें कि MDU में इस तरह के कई मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। लेकिन गुमनाम ही रह गए। विवि प्रशासन ने ऐसे मामलों को गंभीरता से नहीं लिया और जांच करवाना भी जरूरी नहीं समझा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *