जो सरकार ने तय की थी, उसी हिसाब से दी जाएगी पदक विजेता खिलाड़ियों की इनामी राशि, साल भर में दे देंगे सबको चैक -CM

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 18 May, 2018

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि कॉमनवैल्थ गेम्स और बाकी खेलों के हरियाणा के पदक विजेता खिलाडियों को बिना किसी परिवर्तन के उसी खेल नीति के अंतर्गत एक वर्ष की समयावधि में पुरस्कार राशि दे दी जाएगी जो सरकार ने निर्धारित की थी। इसका मतलब यह है कि हरियाणा से खेलने वाले खिलाड़ियों को पूरी ईनाम राशि और किसी अन्य टीम से खेलने वाले हरियाणा के खिलाड़ियों को वहां से मिलने वाली राशि कम करके ईनाम हरियाणा सरकार की ओर से दिया जाएगा।

हरियाणा के जिला सोनीपत के खरखौदा में दीनबंधु छोटूराम कुश्ती अकादमी के शिलान्यास कार्यक्रम के उपरांत मीडिया द्वारा कॉमन वैल्थ गेम्स के पदक विजेता खिलाडियों को पुरस्कार की राशि देने के संदर्भ में किए गए प्रश्न पर हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल नीति में कुछ परिवर्तन किए जाने के लिए खिलाडियों में सहमति नहीं बनी थी तो अब उसी खेल नीति के अंतर्गत एक वर्ष की समयावधि में पदक विजेता खिलाडियों को पुरस्कार राशि दे दी जाएगी।

इससे पहले खिलाड़ियों की इनामी राशि को लेकर खींचतान चल रही थी और हरियाणा सरकार ने गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में पदक विजेता खिलाड़ियो के लिए सम्मान समारोह भी रखा था लेकिन खिलाड़ियों के विरोध के चलते वो कार्यक्रम रद्द करना पड़ा था।

खिलाड़ियों ने सरकार की नई नीति का विरोध किया था, खिलाड़ियों की माने तो सरकार की नई खेल नीति से खिलाड़ियों को घाटा हो रहा है, नई खेल नीति में उन खिलाड़ियों की इनामी रकम काटी जा रही है जो दूसरी किसी संस्था से खेले थे और उनको वहां से जो राशि मिली है वो राशि काटकर खिलाड़ियों को दिये जाने का फैसला किया था।

हरियाणा सरकार ने कॉमनवेल्थ खेलों में  गोल्ड जीतने वाले को डेढ़ करोड़, रजत जीतने वाले को 75 लाख और कांस्य पदक जीतने पर 50 लाख रुपये देने की घोषणा की थी।

इतना ही नहीं, गोल्ड और सिल्वर मेडल के हिसाब से खिलाड़ियों को HCS और HPS बनाने की भी घोषणा हुई थी।

 

Read This News Also>>>>

सिरसा में रिश्वतखोर क्लर्क गिरफ्तार, 50 हजार की मांग रहा था रिश्वत

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *