जहांआरा स्टेडियम की दीवारें बनी प्राइवेट इंस्टीट्यूट संचालकों के प्रचार का माध्यम, लाखों रूपये पर चिपकायें पोस्टर्स

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

Jhajjar

झज्जर में बने जहांआरा स्टेडियम की दिवारे इन दिनों प्राइवेट इंस्टीट्यूट संचालकों के लिए प्रचार का माध्यम बनी हुई है। ऐसा करके प्राइवेट इंस्टीट्यूट के संचालक जिला खेल अधिकारी द्वारा दिए गए आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। इन्हें तो केवल अपने प्रचार से मतलब है। इसके लिए चाहे शहर की सुंदरता ही खराब क्यों न होती हो। ऐसे में प्रशासन को इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाए सुस्ती बरतें है।

बता दें कि खेल विभाग द्वारा शहर में बने जहांआरा बाग स्टेडियम की दीवारों पर दस माह पूर्व करीब चार लाख रुपए खर्च करके पेंटिंग करवाई गई थी, ताकि स्टेडियम की दीवारें सुंदर दिख सकें। जब इस पर पेंटिंग का काम चल रहा था तो जिला खेल अधिकारी द्वारा इन दीवारों पर साफ शब्दों में चेतावनी भी लिखवाई गई थी कि इन दीवारों पर पोस्टर आदि लगाना सख्त मना है।

 

लेकिन जहां पर यह चेतावनी लिखी हुई है, वहीं पर कुछ प्राइवेट इंस्टीट्यूट के संचालकों द्वारा पोस्टर चस्पा किए गए हैं। ऐसा करके वह जिला खेल अधिकारी द्वारा लिखी गई चेतावनी की सरेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। अब सवाल यह है कि आखिरकार विभाग इनके खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा।

 

 

चेतावनी में यह बात भी साफ तौर पर लिखी गई है कि अगर कोई ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मगर ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई न करना विभाग पर सवालिया निशान लगा रहा है।

 

 

बता दें कि जहांआरा बाग स्टेडियम झज्जर शहर का सबसे बड़ा स्टेडियम है। इसलिए विभाग ने इसके रख-रखाव में किसी प्रकार की कोई कसर नहीं छोड़ी है। इसके के मद्देनजर विभाग से करीब चार रुपए खर्च करके इसकी दीवारों पर पेंटिंग करवाई थी, ताकि स्टेडियम सुंदर और आकर्षक दिख सके। मगर कुछ प्राइवेट संचालक अपना प्रचार करने के लिए शहर की सुंदरता से भी खिलवाड़ करते हैं, जो अपने आप में बड़ा शर्मनाक है।

प्राइवेट संचालकों पर हो कार्रवाई शहर के लोगों की मांग है कि चाहे कोई प्राइवेट इंस्टीट्यूट संचालक हो या फिर कोई प्राइवेट संस्थान, ऐसे लोगों के खिलाफ प्रशासन को सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। अगर समय रहते ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई होती रहे तो शहर की सुंदरता भंग होने से बच सके। यह तो केवल स्टेडियम की दीवार है, मगर पूरे शहर में तो जगह-जगह इस तरह के पोस्टर दीवारों पर लगे देखे जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *