उपवास से पहले लिया छोले-भटूरे का स्वाद, सोशल मीडिया पर हुई कांग्रेस की किरकिरी

Breaking देश बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Yuva Haryana

Delhi (9 April 2018)

देश में दलित उत्पीड़न को लेकर एक दिन के उपवास जो राजघाट पर महात्मा गांधी की समाधि के सामने होना था, वह उपवास आज अलग-अलग वजहों से कांग्रेस की ही किरकिरी करा गया।

जहां राहुल गांधी के उपवास पर बैठने से पहले मंच पर सिख दंगों में आरोपी कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर और सज्जन सिंह को वापस लौटाया गया, दूसरी तरफ राहुल गांधी का उपवास ना करके बस कुछ घंटे के लिए ही मंच पर आना, वहीं इसके बाद एक ऐसी तस्वीर सामने आई जो कांग्रेस के लिए उपहास का कारण बन गई।

इस तस्वीर में कांग्रेसी नेता अरविंदर सिंह लवली, हारून यूसुफ छोले भटूरे खाते दिख रहे थे। इसके साथ ही मेज पर अजय माकन और बाकी कांग्रेस नेता भी मौजूद थे। दलितों के मुद्दे पर कांग्रेस के हमलों का लगातार सामना कर रही बीजेपी को इस तस्वीर ने पलटवार का मौका तो दे ही दिया है। वहीं राहुल के नेतृत्व पर सवाल खड़ा कर गया।

बीजेपी के दिग्गज नेता मदनलाल खुराना के बेटे हरीश खुराना ने कांग्रेस नेताओं की इस फोटो को माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर शेयर करते हुए तंज कसा है कि  ‘वहां हमारे कांग्रेस के नेता लोगों को राजघाट पर अनशन के लिए बुलाया है और खुद एक रेस्तरां में बैठकर छोले-भटूरे के मजे ले रहे हैं। सही बेवकूफ बनाते हैं।’ खुराना ने जो फोटो ट्वीट किया उसमें दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन, हारून युसूफ और हाल में बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए अरविंदर सिंह लवली छोले-भटूरे खाते दिख रहे थे।

उन्होंने कहा कि जहां कांग्रेस नेता खा रहे हैं वहां के सीसीटीवी कैमरे की छानबीन की जाए। हालांकि कुछ ही देर बाद कांग्रेस नेता अरविंदर लवली ने भी तस्वीर आज के होने की पुष्टि कर दी। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि यह तस्वीर अनशन से काफी पहले नाश्ते की थी। उन्होंने कहा, ‘उपवास सांकेतिक था और इसका समय साढ़े 10 बजे के बाद का था। ऐसे में हम सुबह में क्या कर रहे थे और क्या नहीं, उससे किसी और क्या मतलब है?’ लवली ने साथ ही बीजेपी पर असल मुद्दे से ध्यान भटकाने का आरोप भी लगाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *