मंत्री, विधायकों पर कार्यकर्ताओ की नाराजगी पड़ेगी भारी, सता रहा है टिकट करने का डर

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Yuva Haryana

Chandigarh

हरियाणा भाजपा में सांसदो के बाद अब कई मौजूदा विधायक और मंत्रियों को टिकट कटने का खतरा सताने लगा है। अबकी बार टिकट कटने के आधार विधायकों का रिपोर्ट कार्ड बनेगा, जो कार्यकर्ताओ के फिडबैक के आधार पर होगा। हालांकि भाजपा हर जिले का प्रभारी नियुक्त कर चुनावी तैयारियों में जुट चुकी है।

वहीं गुरूग्राम में लोकसभा चुनाव देख रेख समिति की हुई बैठक कई मुद्दो पर चर्चा की गई।  जिसमें मुख्य मुद्दा कार्यकर्ता को कैसे फिल्ड में भेजा जाए। बैठक में कार्यकर्ताओं की अनदेखी और उनका पूरी तरह से फिल्ड में ना जाकर काम करना मुख्य मुद्दा रहा। माना जा रहा है कार्यकर्ता अपनी अनदेखी से खासे नाराज है।

वहीं बैठक में यह तक कहा गया कि ना तो मंत्री चंडीगढ़ में सुनवाई करते, और ना ही फिल्ड के दौरों की जानकारी कार्यकर्ताओं को देते। वहीं अफसरशाही की अनदेखी का शिकार तो वे पहले से ही रहते है। इसलिए सरकार का पूरा फोकस कार्यकर्ताओं को मनाने का है कि वे फिल्ड में कैसे उतरे।

जिसके लिए पार्टी प्रभारी अनिल जैन, और कैलाश विजयवर्गीय, और सीएम खट्टर ने इसका मौर्चा संभाल लिया है। वहीं प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट को भी कार्यकर्ताओं को मनाने की जिम्मेंदारी सौंपी गई है कि वे हर संभव कोशिश करे की कैसे कार्यकर्ताओ को मनाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *